अमेरिका में अब बच्चों पर कोरोना का कहर, ब्राजील में 1,064 और रूस में 791 की मौत, अब बूस्‍टर डोज देने की तैयारी

 

दुनिया के तमाम मुल्‍कों में महामारी से होने वाली मौतें थम नहीं रही हैं।
दुनिया के तमाम मुल्‍कों में महामारी से होने वाली मौतें थम नहीं रही हैं। अमेरिका में कोरोना एकबार फ‍िर कहर बरपाने लगा है। अमेरिका में चार महीने बाद एक दिन में मरने वालों की संख्या एक हजार को पार कर गई है।

वाशिंगटन, एजेंसियां। दुनिया के तमाम मुल्‍कों में महामारी से होने वाली मौतें थम नहीं रही हैं। अमेरिका में कोरोना एकबार फ‍िर कहर बरपाने लगा है। अमेरिका में चार महीने बाद एक दिन में मरने वालों की संख्या एक हजार को पार कर गई है। रूस में कोरोना से रोज बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत हो रही है। ब्राजील कोरोना की नई लहर की चपेट में है और एकबार फ‍िर वहां एक दिन में एक हजार से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई है। न्‍यूजीलैंड में लॉकडाउन लगा दिया गया है और नए संक्रमितों के मिलने का सिलसिला जारी है। आइए जानें दुनिया के मुल्‍कों का हाल...

अमेरिका में बच्‍चे हो रहे महामारी के शिकार  

अमेरिका में कोरोना की चौथी लहर में बच्चे तेजी से संक्रमण का शिकार हो रहे हैं। अब अस्पतालों में भी गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। अमेरिका के पीडियाट्रिक्स एंड चिल्ड्रंस हास्पीटल सोसायटी के अनुसार जून के अंत से 12 अगस्त तक 1 लाख 21 हजार बच्चे कोरोना संक्रमित हुए हैं। महामारी शुरू होने से अब तक 4 लाख 41 हजार बच्चे कोरोना के शिकार हुए हैं। यहां 12 साल से नीचे के बच्चों के लिए अभी वैक्सीन नहीं है।  

अस्पतालों में मरीजों का दबाव बढ़ा

अमेरिका में डेल्टा वैरिएंट के कारण चल रही चौथी लहर में गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण अस्पतालों में फिर भीड़ होने लगी है। कैलिफोर्निया और न्यूयार्क सहित आठ राज्यों के अस्पतालों में मरीजों का दबाव ज्यादा बढ़ गया है। महामारी पर काबू पाने के लिए वैक्सीन लगाने का काम तेजी से किया जा रहा है। यहां 59 फीसद लोगों को वैक्सीन की एक खुराक दे दी गई है।

अमेरिका ने 150 देशों से की अपील

एपी के अनुसार, अमेरिका ने 150 देशों के नेताओं से आग्रह किया है कि वह न्यूयार्क में कोरोना संक्रमण को देखते हुए अगले महीने होने जा रही संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की बैठक में भाग लेने न आएं और वर्चुअल बैठक करें। अमेरिका ने बैठक में व्यक्तिगत रूप से शामिल न होने के संबंध में एक पत्र 192 देशों को भेजा है। इस पत्र में कहा है कि वह अपना संबोधन वीडियो के माध्यम से करें। इससे न्यूयार्क में संक्रमण रोकने में मदद मिलेगी।

रूस में 791 लोगों की गई जान

रूस में कोरोना का कहर जारी है। रूस में बीते 24 घंटे में कोरोना से 791 लोगों की मौत हो गई जबकि संक्रमण के 21,058 नए केस सामने आए। मास्‍को में हालात खराब हैं। वहां एक दिन में 2,142 नए मामले सामने आए। रूसी अधिकारियों का कहना है कि लगातार हो रही बड़ी संख्‍या में मौतों के पीछे कोरोना का डेल्‍टा वैरिएंट जिम्‍मेदार है।

ब्राजील में 1,064 की मौत

ब्राजील में कोरोना की नई लहर कहर बरपा रही है। ब्राजील में बीते 24 घंटे में 1,064 लोगों की मौत हो गई है जबकि संक्रमण के 41,714 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही ब्राजील में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 20,457,897 हो गया है। ब्राजील में कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 571,662 हो गई है। एक दिन पहले बुधवार को ब्राजील में महामारी से 1,106 लोगों की मौत हो गई थी।

आस्ट्रेलिया में भी बढ़ रहे केस

आस्ट्रेलिया में कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। आस्ट्रेलिया के सबसे अधिक जनसंख्या वाले सूबे न्यू साउथ वेल्स में रिकार्ड 681 नए मामले सामने आए हैं। वहीं विक्टोरिया में 50 से अधिक नए केस सामने आए हैं। संक्रमण की रोकथाम के लिए मेलबर्न में लाकडाउन चल रहा है।

दुनियाभर में 43.9 लाख लोगों की मौत

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से साझा की गई जानकारी के मुताबिक दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 20.92 करोड़ को पार कर गया है जबकि महामारी से अब तक 43.9 लाख लोगों की मौत हुई है। यही नहीं अब तक कुल 4.78 अरब लोगों का टीकाकरण भी किया जा चुका है।

न्यूजीलैंड में डेल्टा वैरिएंट की दस्‍तक

न्यूजीलैंड दुनिया का ऐसा मुल्‍क रहा जहां बीते छह माह में कोरोना का एक भी मरीज नहीं सामने आया था। मंगलवार को एक मरीज के मिलने के बाद बुधवार को यहां छह नए मरीज मिले। न्‍यूजीलैंड में गुरुवार को कोरोना के 21 नए मामले सामने आए जिससे सरकार की चिंता बढ़ गई है। न्‍यूजीलैंड में भी मामलों में बढ़ोतरी के पीछे डेल्टा वैरिएंट को जिम्मेदार माना जा रहा है। न्यूजीलैंड की सरकार ने लाकडाउन की घोषणा कर दी है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक न्यूजीलैंड अब 12 से 15 वर्ष की उम्र के बच्चों को वैक्‍सीन लगाने की अनुमति देगा।

अब बूस्‍टर डोज देने की तैयारी

बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए दुनिया के मुल्‍कों में अब बूस्‍टर डोज लगाने की तैयारियां तेज हो गई हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक फ‍िलिपींस की सरकार ने लोगों को कोविड रोधी वैक्‍सीन की बूस्‍टर डोज लगाने के लिए साल 2022 के बजट में लगभग 45.3 अरब रुपए ($899 million) का प्रविधान किया है। अमेरिका में भी बूस्‍टर डोज लगाने की तैयारी है। समाचार एजेंसी आइएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना के डेल्‍टा वैरिएंट के कहर के बीच अमेरिका अगले महीने कोविड -19 बूस्टर शॉट्स का बंदोबस्‍त करेगा। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक नए डेटा से पता चलता है कि समय के साथ कोरोना के खिलाफ वैक्सीन सुरक्षा कम हो जाती है...