परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट छात्र बिना शुल्क के 27 अगस्त तक कर सकेंगे आवेदन


माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट www.upmsp.edu.in पर परिणाम से असंतुष्ट छात्र-छात्राएं आवेदन कर सकते हैं।

 प्रधानाचार्याें के साथ बर्चुअल बैठक में डीआइओएस ने कहा कि 27 अगस्त की शाम पांच बजे तक माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट www.upmsp.edu.in पर परिणाम से असंतुष्ट छात्र-छात्राएं आवेदन कर सकते हैं। आवेदन छात्र डाउन लोड करके कालेज में जमा करेंगे।

मुरादाबाद।  दसवीं और 12वीं के परिणाम से असंतुष्ट छात्र व छात्राओं के निश्शुल्क आवेदन भरने संबंधी डीआइओएस अरुण कुमार दुबे ने वर्चुअल बैठक की। प्रधानाचार्याें के साथ बर्चुअल बैठक में डीआइओएस ने कहा कि 27 अगस्त की शाम पांच बजे तक माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट www.upmsp.edu.in पर परिणाम से असंतुष्ट छात्र-छात्राएं आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने प्रधानाचार्यों से कहा कि यह आवेदन छात्र डाउन लोड करके कालेज में जमा करेंगे।

प्रधानाचार्य आवेदन को परिषद की वेबसाइट पर विद्यालय लागइन के माध्यम से प्रतिदिन अपलोड करेंगे। प्रधानाचार्य द्वारा आवेदन अपलोड करने की अंतिम तिथि 29 अगस्त रात 12 बजे तक है। परीक्षा में सम्मलित छात्र-छात्राओं को मिले अंक ही अंतिम माने जाएंगे। परीक्षाएं 18 सितंबर से छह अक्टूबर तक होंगी। आवेदन करने पर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। डीआइओएस अरुण कुमार दुबे ने कहा कि इंटरमीडिएट की परीक्षा में गैर हाजिर छात्र चाहें तो आगामी प्रयोगात्मक परीक्षा में भाग ले सकते हैं। इसके अलावा मिशन शक्ति कार्यक्रम को सुचारू रखने, कन्या सुमंगला योजना एवं यू डाइस पोर्टल को लेकर भी जरूरी निर्देश दिए गए।

माध्यमिक स्कूलों में छात्र संख्या बढ़ी, पब्लिक स्कूलों में अभी उपस्थिति कम : कक्षा छह से आठवीं तक के छात्रों की संख्या माध्यमिक स्कूलों में बढ़ रही है। लेकिन, पब्लिक स्कूलों में दूसरे दिन भी संख्या कम रही। हालांकि पीईटी के कारण तमाम स्कूलों में पहले दिन ही कक्षा छह से आठवीं तक स्कूल खुले। जिसमें 10 से 15 बच्चे ही कक्षाओं में उपस्थित हुए। बेसिक स्कूलों में पहले दिन की अपेक्षा दूसरे दिन थोड़ी संख्या बढ़ी। लेकिन, पहले की तरह छात्र संख्या नहीं है। चित्रगुप्त इंटर कालेज में पहली पाली में सात सौ बच्चे आए।

इसमें कक्षा छह से आठवीं तक के बच्चे शासनादेश के तहत 50 फीसद बुलाए गए। जिसमें 80 फीसद उपस्थिति कक्षाओं में रही। मैथोडिस्ट गर्ल्स कालेज में भी छात्राओं की संख्या पहले दिन ठीक रही। पब्लिक स्कूलों में अभी अभिभावक पूरी तरह तैयार नहीं है। 50 फीसद बच्चों में भी 10 फीसद ही आ रहे हैं। केसीएम, पीएमएस, बोनी अनी स्कूल में अभिभावक सहमति पत्र लेने पहुंचे। जिससे इन स्कूलों में फिलहाल छात्र संख्या कम है लेकिन, एक दो रोज में संख्या बढ़ने की उम्मीद है। ग्रामीण क्षेत्र के बेसिक स्कूलों में पहले दिन की अपेक्षा छात्र संख्या थोड़ी बढ़ी।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय चमरौआ, कन्या जूनियर हाईस्कूल धर्मपुर सेरूआ, जूनियर हाईस्कूल छजलैट, कम्पाेजिट विद्यालय कांशीराम नगर में पहले दिन की अपेक्षा उपस्थिति बढ़ी। चित्रगुप्त इंटर कालेज के प्रधानाचार्य वीर सिंह ने बताया कि उनके स्कूल में छात्रों की संख्या बेहतर है। टाइनी टाटस की प्रधानाचार्या इंदू पारिख ने बताया कि पहले दिन की अपेक्षा छात्र संख्या बढ़ी है।