चिंताजनक हालात, टीके के बाद भी संक्रमण के सबसे ज्यादा केस डेल्टा वैरिएंट के, रोज मिल रहे 30 हजार से ज्यादा मामले

 

कोरोना महामारी की दूसरी लहर में भारी तबाही मचाने वाला डेल्टा वैरिएंट आज भी चिंता का कारण बना हुआ है।

कोरोना महामारी की दूसरी लहर में भारी तबाही मचाने वाला डेल्टा वैरिएंट आज भी चिंता का कारण बना हुआ है। टीके के बाद संक्रमण यानी ब्रेकथ्रू इंफेक्शन के सबसे ज्यादा मामले डेल्टा वैरिएंट के ही मिले हैं। पढ़ें यह रिपोर्ट...

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में भारी तबाही मचाने वाला डेल्टा वैरिएंट आज भी चिंता का कारण बना हुआ है। टीके के बाद संक्रमण यानी ब्रेकथ्रू इंफेक्शन के सबसे ज्यादा मामले डेल्टा वैरिएंट के ही मिले हैं। वर्तमान समय में भी प्रतिदिन संक्रमण के 30 हजार से ज्यादा नए मामले मिल रहे हैं। इनमें भी ज्यादातर मामले डेल्टा वैरिएंट के ही हैं। भारतीय सार्स-सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (इंसकाग) ने वैरिएंट आफ कंसर्न और वैरिएंट आफ इंटरेस्ट का पता लगाने के लिए 30,230 नमूनों की जीनोम सिक्वेंसिंग की थी। इनमें से 20,324 मामले डेल्टा वैरिएंट के पाए गए। 

वैक्सीन के प्रभाव को करता है कम

डेल्टा वैरिएंट को वैरिएंट आफ कंसर्न यानी चिंताजनक वैरिएंट की श्रेणी में रखा गया है। इंसकाग ने 16 अगस्त को जारी अपनी नवीनतम बुलेटिन में कहा है कि डेल्टा वैरिएंट संक्रमण के प्रसार को रोकने में वैक्सीन के प्रभाव को भी कम करता है। लेकिन वैक्सीन गंभीर बीमारी और मौत को कम करने में बहुत प्रभावी है। अभी भी ब्रेकथ्रू संक्रमण के मामलों की सीक्वेंसिंग में डेल्टा वैरिएंट के मामले ही ज्यादा पाए जा रहे हैं। किसी नए वैरिएंट को लेकर भी जांच जारी है।

कई देशों में कहर मचा रहा डेल्टा वैरिएंट

भारत और अमेरिका के साथ दुनिया के 80 से ज्यादा देशों में डेल्टा वैरिएंट पाया गया है। मौजूदा समय में चीन और कोरिया में इसके ज्यादा मामले मिल रहे हैं। भारत में मई में इस वैरिएंट ने भारी तबाही मचाई थी। नए मामलों की संख्या चार लाख को पार कर गई थी और रोजाना हजारों मौैतें भी हो रही थीं। डेल्टा वैरिएंट के और भी कई नए वैरिएंट निकले हैं, लेकिन उनमें से डेल्टा प्लस वैरिएंट के 61 मामले ही अभी देश में पाए गए हैं।

दूसरी लहर के बाद कम हुए नए मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शुक्रवार को सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में 36 हजार से ज्यादा नए मामले मिले हैं और 540 लोगों की मौत हुई है। दूसरी लहर की तुलना में नए मामलों में कमी तो आई है, लेकिन अभी भी रोजाना 30 हजार के आसपास मामले मिल रहे हैं। हालांकि, पांच महीने बाद शुक्रवार को सक्रिय मामले सबसे कम 3,63,605 दर्ज किए गए। मरीजों के उबरने की दर भी लगातार बढ़ रही है। पहले की तुलना में हालात बेहतर हो रहे हैं, हालांकि इसकी रफ्तार कुछ धीमी जरूर हो गई है।

देश में कोरोना की स्थिति

24 घंटे में नए मामले 36,571

कुल सक्रिय मामले 3,63,605

24 घंटे में टीकाकरण 54.71 लाख

कुल टीकाकरण 57.22 करोड़

कुल मामले 3,23,58,829

मौतें (24 घंटे में) 540

कुल मौतें 4,33,589

ठीक होने की दर 97.54 फीसद

मृत्यु दर 1.34 फीसद

पाजिटिविटी दर 1.94 फीसद

सा.पाजिटिविटी दर 1.93 फीसद

जांचें (गुरुवार) 18,86,271

कुल जांचें (गुरुवार) 50,26,99,702

किस राज्य में कितने टीके

उत्तर प्रदेश 5.65 लाख

राजस्थान 3.61 लाख

महाराष्ट्र 3.31 लाख

गुजरात 2.41 लाख

दिल्ली 1.14 लाख

हरियाणा 1.03 लाख

झारखंड 0.52 लाख

उत्तराखंड 0.51 लाख

पंजाब 0.40 लाख

बिहार 0.38 लाख

हिमाचल 0.38 लाख

जम्मू-कश्मीर 0.26 लाख

(कोविन प्लेटफार्म के आंकड़े)