दिल्ली में कोरोना का टीका लगवाने वालों के लिए बड़ी राहत, अब वैक्सीन के लिए नहीं करना पड़ेगा इंतजार

 


पहली खुराक वालों के लिए होंगी टीके की 70 फीसद डोज

सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर उपलब्ध टीके की 70 फीसद डोज पहली खुराक लेने वालों को व 30 फीसद डोज दूसरी खुराक लेने वालों को दी जाएगी। आदेश में कहा गया है कि एक दिन पहले तक कोविशील्ड की 40 फीसद डोज पहली खुराक लेने वालों को देने का प्रविधान था।

नई दिल्ली। दिल्ली में हाल के दिनों में टीके की उपलब्धता बढ़ने के कारण दिल्ली सरकार के परिवार कल्याण निदेशालय ने पहली डोज देने का कोटा बढ़ा दिया है। इसके तहत अब सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर पहली व दूसरी डोज का टीकाकरण 70 व 30 के अनुपात में होगा। इस बाबत परिवार कल्याण निदेशालय ने रविवार को आदेश जारी किया है। लिहाजा सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर उपलब्ध टीके की 70 फीसद डोज पहली खुराक लेने वालों को व 30 फीसद डोज दूसरी खुराक लेने वालों को दी जाएगी। निदेशालय के आदेश में कहा गया है कि एक दिन पहले तक कोविशील्ड की 40 फीसद डोज पहली खुराक लेने वालों को देने का प्रविधान था।

इसे बढ़ाकर अब 70 फीसद कर दिया गया है। इसी तरह कोवैक्सीन की 50 फीसद डोज पहली खुराक लेने वालों को देने का प्रविधान था। इसे भी बढ़ाकर अब 70 फीसद कर दिया गया है।

हालांकि, निजी अस्पतालों के टीकाकरण केंद्रों पर ऐसी कोई बाध्यता नहीं होगी। 01 करोड़ 49 लाख लोग दिल्ली में 18 साल से अधिक हैं, जिन्हें टीका लगना है 82 लाख 53 हजार 87 लोगों को कम से कम टीके की एक डोज दी जा चुकी है 32 लाख 66 हजार 927 लोगों को टीके की दोनों डोज लग चुकी हैं 55.38 फीसद लोगों को कम से कम एक डोज दी जा चुकी है 22 फीसद को दोनों डोज दी जा चुकी हैं। 66 लाख 46 हजार 913 लोगों को एक भी डोज टीका नहीं लगा है।

24 घंटे में कोरोना से एक भी मरीज की मौत नहीं

वहीं, राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर 0.07 फीसद से बढ़कर 0.08 फीसद हो गई है। इस वजह से रविवार को दिल्ली में कोरोना के 53 नए मामले आए। वहीं 18 मरीज ठीक हुए। ठीक होने वाले मरीजों की तुलना में नए मामले अधिक होने के कारण सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 500 से अधिक हो गई है। राहत की बात यह है कि पिछले 24 घंटे में कोरोना से एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। इस तरह पिछले पांच दिन में चौथी बार कोरोना से एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है।स्वास्थ्य विभाग के अनुसार दिल्ली में कोरोना के अब तक कुल 14 लाख 37 हजार 91 मामले आए हैं। जिसमें से 14 लाख 11 हजार 509 मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं मृतकों की कुल संख्या 25,069 है। मौजूदा समय में दिल्ली में 513 सक्रिय मरीज हैं। जिसमें से 287 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। एक दिन पहले तक 478 सक्रिय मरीज थे। दिल्ली में अभी 243 कंटेनमेंट जोन हैं।