डीयू में जमा हुए अफगानी छात्र और बोले परिवार के लोग अफगानिस्तान में परेशान और हम यहां, नम हो गई उनकी आंखें

 

कुलपति ने अफगानी छात्रों को मिलने के लिए बुलाया, डीयू ने छात्रों ने हरसंभव मदद का दिया आश्वासन।

करीब 20 अफगानी छात्र दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर में एकत्र हुए थे। कार्यवाहक कुलपति प्रो पीसी जोशी ने अफगानी छात्रों को मिलने के लिए बुलाया था। डीयू ने छात्रों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

नई दिल्ली । रह रहकर गोलियों की आवाजें सुनाई देती हैं। परिवार के लोग अफगानिस्तान में परेशान हैं और हम यहां। ये बताते हुए अफगानिस्तानी छात्रों की आंखें नम हो गई। करीब 20 अफगानी छात्र दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर में एकत्र हुए थे। कार्यवाहक कुलपति प्रो पीसी जोशी ने अफगानी छात्रों को मिलने के लिए बुलाया था। डीयू ने छात्रों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

सता रही भविष्य की चिंता

डीयू में अंतिम वर्ष में 150 छात्र पढ़ते हैं। कुल 20 छात्र डीयू कुलपति से मिलने पहुंचे थे। स्नातक छात्र एहसान कहते हैं कि मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ रहा है। हमें पता चला है कि तालिबानी घर-घर की तलाशी ले रहे हैं। भविष्य में क्या होगा, ये कहना बहुत मुश्किल है। फिलहाल तो अफगानिस्तान नाजुक दौर से गुजर रहा है। शहरों में गोलियों की आवाजें रुक-रुक सुनाई दे रही हैं।

किराया देने में दिक्कत

अब्दुल हसन बताते हैं कि बहुत से छात्रों को घर से आर्थिक मदद की दरकार रहती है। जुलाई में तो घरवालों ने किसी तरह पैसे भेज दिए लेकिन अब हालात बदतर हो चुके हैं। नौकरियां छूट चुकी है। कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल रहा है। बैं¨कग सिस्टम भी सुचारू रूप से काम नहीं कर रहा है। ऐसे में घर वाले चाहकर भी पैसे नहीं भेज सकते। बहुत से छात्रों को इस महीने से कमरे का किराया और अन्य खर्चों के लिए पैसे की जरूरत पड़ेगी।

डीयू ने इस समय काफी मदद की है। बोनाफाइड सर्टिफिकेट समेत अन्य मदद के लिए आगे आया है। वीजा की अवधि एक साल बढ़ा दी गई है। फिक्र बस इतनी है कि पढ़ाई खत्म होने के बाद क्या होगा? अफगानिस्तान के हालात जाने लायक नहीं है। करीमा, एम अंतिम वर्ष की छात्रा

छात्रों को फेलोशिप मिल जाए तो बेहतर रहेगा। छात्र बहुत परेशान है, सरकार को वीजा की अवधि बढ़ाना चाहिए। विवि ने मिलने के लिए बुलाया है, यह एक अच्छा कदम है।

छात्रों की मुख्य मांगे

-वीजा अवधि बढ़ाई जाए।

-फेलोशिप मिले।

-आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए पहल।

-परिवारवालों को वीजा दिया जाए।

........

डीयू ने छात्रों से कहा

-वीजा अवधि समाप्त होने के बावजूद 31 अगस्त तक रूकेंगे छात्र।

-वीजा संबंधित मसलों को लेकर मंत्रालय के लगातार संपर्क में डीयू।

आंकड़े

- अंतिम वर्ष में कुल 150 अफगानी छात्र पढ़ते हैं।

- 40 छात्र दिल्ली-एनसीआर में रहते हैं।

- डीयू ने सभी छात्रों को ईमेल कर बुलाया था। 20 छात्र आए।