पाकिस्तान में महिलाओं को लेकर सामने आई ताजा रिपोर्ट, अधिकारों के हनन को लेकर चौंकाने वाले हैं दावे

 

द एक्स्प्रेस ट्रिब्यून के ओपिनियन पीस में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर जताई चिंता

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून में देश में महिलाओं की सुरक्षा और अधिकारों को लेकर चिंता जाहिर की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक बाहर से देखने वाले किसी भी व्यक्ति को दो पाकिस्तान नजर आ सकते हैं एक वो जो रूढ़िवादी है और अपनी महिलाओं पर प्रतिबंध लगाता है।

इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान के मीनार-ए-पाकिस्तान में पिछले दिनों एक महिला के साथ हुई बर्बरता की घटना के बाद देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं। इसे लेकर एक ताजा रिपोर्ट आई है जिसमें पाकिस्तान में महिलाओं के अधिकारों के हनन का दावा किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान देश की महिलाओं से जुड़ी हर बात को नियंत्रित करना चाहता है। महिलाओं के कपड़ों से लेकर उन्हें किससे मिलना चाहिए या अपनी जिंदगी के साथ क्या करना चाहिए या क्या नहीं करना चाहिए, इस सब पर वह अपना नियंत्रण रखना चाहता है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के एक ओपिनियन पीस में देश में महिलाओं की सुरक्षा और अधिकारों को लेकर चिंता जाहिर की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, बाहर से देखने वाले किसी भी व्यक्ति को दो पाकिस्तान नजर आ सकते हैं, एक वो जो रूढ़िवादी है और अपनी महिलाओं पर प्रतिबंध लगाता है। समाज के कुछ वर्गों द्वारा परिभाषित संकीर्ण मानदंडों के भीतर महिलाओं को रखता है। वहीं, दूसरा वह है जहां महिलाएं उन सीमाओं से निकलकर स्वतंत्र हैं और जिंदगी अपने हिसाब से जीती हैं और अपनी मर्जी से काम करती हैं और उन्हें क्या पहनना और कैसे रहना है ये फैसला भी उनका खुद का होता है।द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने कहा कि एकता या अनुशासन के बिना पाकिस्तान इसे चुनिंदा रूप से लागू करता है और इसे पारंपरिक मूल्यों के साथ प्रतिस्थापित करता है जो महिलाओं को केवल नियंत्रित करने और इस्तेमाल करने के लिए वस्तुओं के रूप में मानते हैं। ओपिनियन पीस के अनुसार, यही कारण है कि पाकिस्तान में पुरुषों द्वारा सार्वजनिक पार्क में घूमने वाली महिलाओं के साथ दुष्कर्म, कार्यालयों में उनके साथ दुर्व्यवहार, उनकी बात ना मानने पर तेजाब फेंकने जैसी घटनाएं सामने आती हैं।