भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी एक्सप्रेस रद, विक्रमशिला और दादर का रूट बदला

 


भागलपुर दानापुर इंटरसिटी एक्सप्रेस रद कर दिया गया है।

बरियापुर-रतनपुर स्टेशन के बीच रेल पुल पर बाढ़ का पानी डेंजर लेबल किया पार। शनिवार से ठप है रेल परिचालन। कई ट्रेनों के रूट बदल कर चलाने से 150-200 किमी अतिरिक्त सफर करने व कइयों के रद होने से यात्रियों को परेशानी का करना पड़ रहा सामना।

 संवाददाता, भागलपुर। जलस्तर बढ़ने से बरियारपुर और रतनपुर के बीच रेलवे पुल संख्या-195 के गर्डर को बाढ़ का पानी छूने से खतरे को देखते हुए शनिवार को भागलपुर-जमालपुर रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया। रविवार को भी भागलपुर और जमालपुर के बीच ट्रेनों का परिचालन ठप रहा। इसकी वजह से भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी का भी रविवार को परिचालन रद कर दी गई। जनसेवा एक्सप्रेस, भागलपुर-जमालपुर के बीच चलने वाली सभी अप-डाउन, जमालपुर-साहिबगंज मेमू के परिचालन शनिवार से ही बंद है। वहीं भागलपुर से दिल्ली जाने वाली अप विक्रमशिला एक्सप्रेस और भागलपुर से दादर तक चलनेवाली लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस का परिचालन देवघर-जसीडीह होकर कराई गई।

इसी तरह डाउन विक्रमशिला एक्सप्रेस, सूरत एक्सप्रेस, अजमेर शरीफ एक्सप्रेस व गांधीग्राम एक्सप्रेस जसीडीह, देवघर के रास्ते होते हुए भागलपुर पहुंची। इसके अलावा ब्रह्मपुत्र मेल सहित कई ट्रेनों के रूट बदलकर नवगछिया-कटिहार होकर परिचालन कराया जा रहा है। एहितियात के तौर पर मालदा रेल मंडल ने अप-डाउन में ट्रेनों के परिचालन पर रोकने से आधा दर्जन से ज्यादा ट्रेनें के रद होने और कई ट्रेनों को रूट बदलकर चलाने की वजह से 150-200 किलोमीटर अतिरिक्त लंबी यात्रा से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इधर, जिन ट्रेनों को रद कर दी गई है उन ट्रेनों की टिकट बुकिंग भी परिचालन शुरू होने तक बंद कर दी गई है। रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक रद होनेवाली ट्रेनों की टिकट बुकिंग अब परिचालन शुरू करने के आदेश के बाद ही होगी। वहीं रविवार को भी ट्रेनों की स्थिति जानने के लिए पूछताछ केंद्र पर लोगों की भीड़ लगी रही। स्टेशन पर अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही।

रद ट्रेनें

-भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी -03619/20 जनसेवा एक्सप्रेस

-0360/59 जमालपुर-भागलपुर पैंसेजर

-3405 भागलपुर-जमालपुर पैसेंजर

-03432 जमालपुर-साहिबगंज मेमू

स्थिति पर नजर रखी जा रही है। लगातार पेट्रोलिंग की जा रही है। यात्रियों की सुरक्षा को लेकर किसी तरह का जोखिम नहीं लिया जा सकता है। पानी कम होने के बाद ट्रेनों का परिचालन बहाल किया जाएगा। -यतेंद्र कुमार, डीआरएम, मालदा रेल मंडल।