बरेली के सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में स्वतंत्रता दिवस पर नहीं हुआ ध्वजारोहण, स्कूलों में पड़े रहे ताले

 

स्वतंत्रता दिवस पर सरकारी स्कूलों में ही नहीं हुआ शासनादेश का पालन।

स्वतंत्रता दिवस पूरे देख उल्लास के साथ मनाया जा रहा है।सभी सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में सुबह ध्वजारोहण कार्यक्रम हुआ जिसमें देश की शान तिरंगे को फहराया गया।इसके बाद गणमान्य लोगाें ने उपस्थितजनों को स्वतंत्रता दिवस के बारे में बताया।

बरेली, : स्वतंत्रता दिवस पूरे देख उल्लास के साथ मनाया जा रहा है।सभी सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में सुबह ध्वजारोहण कार्यक्रम हुआ, जिसमें देश की शान तिरंगे को फहराया गया।इसके बाद गणमान्य लोगाें ने उपस्थितजनों को स्वतंत्रता दिवस के बारे में बताया।अमर शहीदों की शौर्य गाथा भी सुनाईं।बरेली में भी सुबह से आयोजनों का सिलसिला जारी रहा।

बरेली पुलिस लाइन, डीएम और कमिश्नर कार्यालय, बरेली विकास प्राधिकरण और बरेली नगर निगम समेत समस्य सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में तिरंगा फहराकर अमर शहीदों को नमन किया गया।इसके साथ ही सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में भी कार्यक्रम के आयोजन किए गए।हालांकि कोविड प्रोटोकाल को देखते हुए कम संख्या में ही लोग उपस्थित रहे।लेकिन, बरेली में कुछ परिषदीय स्कूलों में शासनादेश की धज्जियां ही उड़ीं। नगर क्षेत्र के स्कूलों में ध्वजारोहण नहीं हुआ।जबकि शासन से सभी स्कूलों में ध्वजारोहण कार्यक्रम को किए जाने के निर्देश दिए गए थे।

बरेली नगर क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय हरुनागला प्रथम, मॉडर्न स्कूल हरुनागला, पूर्व माध्यमिक विद्यालय हरुनागला द्वितीय स्कूल में 15 अगस्त को ताले लटके रहे। स्कूल में झंडारोहण के लिए भले ही छात्र-छात्राएं आए हों। मगर, उन्हें निराश होकर ही वापस लौटना पड़ा। इस पर लोगों के साथ पहुंचे नरेश शर्मा उर्फ बंटी ने आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि भारत की आजादी के जश्न की खुशी में स्कूल में राष्टगान, झंडारोहण होना चाहिए था। जो बड़ी शर्म की बात है।

जिला बेसिक शिक्षाधिकारी विनय कुमार ने कहा कि स्कूल में स्वतंत्रता दिवस न मनाने और स्कूल न खोलने पर प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।जिन स्कूलों में स्वतंत्रता दिवस नहीं मनाया गया, वहां के स्टाफ ने घोर लापरवाही की है।इन सभी से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।साथ ही जवाब संतोषजनक नहीं होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।इसकी रिपोर्ट शासन को भी भेजी जाएगी।