कश्मीर में जहां खून से लाल हुई थी जमीं, वहीं खिलेंगे खुशियों के फूल

 

कश्मीरी हिंदुओं के लिए गांदरबल-बांडीपोरा में 80 करोड़ की लागत से ट्रांजिट आवासीय सुविधा तैयार की जा रही है।

 इस परियोजना के लिए 23 करोड़ की राशि मंजूर की गई है। सभी 12 टॉवर में आरसीसी (सीमेंट इत्यादि) का काम हो चुका है। दो टावर की ऊपरी मंजिल पर स्टील चादर की छत भी डाल दी गई है। इसके अलावा ईंट का काम जारी है।

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : कौन भूल सकता है, 25 जनवरी 1998 की रात। आतंकियों ने कश्मीर के गांदरबल जिले के वंधामा गांव में 26 निर्दोष कश्मीरी पंडितों का नरसंहार कर दिया था। जमीन खून से लाल हो गई थी। लगभग 23 साल बाद अब इस गांव में फिर खुशियों के फूल खिलाए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री रोजगार पैकेज के तहत वादी में वापसी के लिए सरकारी रोजगार प्राप्त करने वाले विस्थापित कश्मीरी हिंदुओं के लिए गांदरबल और बांडीपोरा में 80 करोड़ की लागत से ट्रांजिट आवासीय सुविधा तैयार की जा रही है। इन दो जिलों में विस्थापित कश्मीरी हिंदुओं के लिए 672 फ्लैट बनाए जा रहे हैं। गांदरबल के वंधामा गांव में 30 कनाल में बन रही ट्रांजिट आवासीय सुविधा का करीब 60 फीसद काम पूरा हो गया है। वहीं, बांडीपोरा के ओडिना में भी 25 फीसद काम पूरा हो गया है। बुधवार को उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के सलाहकार बसीर अहमद खान ने संबंधित अधिकारियों के साथ दोनों जगहों का दौरा कर काम निर्धारित समयावधि में पूरा करने का निर्देश देते हुए गुणवत्ता को सुनिश्चित बनाने को भी कहा।

सड़क एवं भवन निर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर ने उपराज्यपाल के सलाहकार को बताया कि गांदरबल के वंधामा गांव में 30 कनाल के भूखंड पर 12 टावर तैयार किए जा रहे हैं। प्रत्येक टावर में 16 फ्लैट होंगे और कुल 192 फ्लैट बनेंगे। इस परियोजना के लिए 23 करोड़ की राशि मंजूर की गई है। सभी 12 टॉवर में आरसीसी (सीमेंट इत्यादि) का काम हो चुका है। दो टावर की ऊपरी मंजिल पर स्टील चादर की छत भी डाल दी गई है। इसके अलावा ईंट का काम जारी है।

गांदरबल में यह होगी सुविधा : 192 फ्लैट के ट्रांजिट आवासीय परिसर में दोमंजिला शापिंग कांप्लेक्स, दोमंजिला सामुदायिक भवन, एक सुरक्षा बंकर, एक वाच टावर भी बनाया जाएगा। पूरे आवासीय परिसर की चहारदिवारी भी होगी।

बांडीपोरा में 480 फ्लैट तैयार होंगे : उपराज्यपाल के सलाहकार नेे जिला बांडीपोरा के ओडिना में निर्माणाधीन आवासीय सुविधा का भी जायजा लिया। संबंधित अधिकारियों ने उन्हें बताया कि ओडिना में 30 ब्लाक में 480 फ्लैट तैयार किए जाएंगे। प्रत्येक ब्लाक चार मंजिला होगा। प्रत्येक ब्लाक में 16 फ्लैट होंगे और लिफ्ट की सुविधा भी रहेगी। इस परियोजना के लिए 57.60 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की गई है।

कोरोना को लेकर 100 दिन बेहद संवेदनशील : उपराज्यपाल के सलाहकार बसीर खान ने गांदरबल और बांडीपोरा के पंच-सरपंचों, ब्लाक विकास परिषद व जिला विकास परिषद के अध्यक्षों के साथ भी मुलाकात की। वह दोनों जिलों के विभिन्न सामाजिक व राजनीतिक संगठनों के प्रतिनिधियों से भी मिले और उनकी समस्याओं व मुद्दों को सुना। उन्होंने इस दौरान कोविड-19 प्रोटोकाल के अनुकूल व्यवहार को अपनाए जाने पर जोर देते हुए कहा कि आगामी 100 दिन बहुत ही संवेदनशील हैं। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को रोकने के लिए सतर्कता जरूरी है। उन्होंने इस दौरान पंचायत प्रतिनिधियों को प्रत्येक गांव में खेल का मैदान विकसित करने के लिए जिला प्रशासन की मदद से जमीन भी चिन्हित करने को कहा।