अफगानिस्तान: काबुल के स्थानीय निवासियों से हथियार ले रहा तालिबान

 



अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में लोगों से हथियार जमा कर रहा तालिबान
तालिबान के एक अधिकारी ने जल्द ही अफगानिस्तान को इस्लामिक अमीरात आफ अफगानिस्तान घोषित किए जाने की बात कही है। दूसरी ओर अफगानिस्तान के नेताओं ने तालिबान के साथ सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण के लिए एक परिषद का गठन किया है।

काबुल, रॉयटर्स। तालिबान आतंकियों ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में स्थानीय लोगों से हथियारों को एकत्रित करना शुरू कर दिया क्योंकि लोगों को अब अपनी सुरक्षा के लिए इसकी जरूरत नहीं है। एक अधिकारी ने रॉयटर्स को बताया, 'हम इस बात को समझते हैं कि लोग अपनी सुरक्षा के लिए अपने पास हथियार रखते हैं। अब वे सुरक्षित महसूस कर सकते हैं। हम निर्दोषों को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे।' शहर के निवास सलाद मोलेस्किन ने ट्विटर पर बताया कि तालिबान के लोग उनकी कंपनी के कंपाउंड में आए और सिक्योरिटी टीम के पास हथियारों की जानकारी ली।

बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद पल-पल हालात बदल रहे हैं। राष्ट्रपति अशरफ गनी और अन्य नेता एवं राजनयिक अफगानिस्तान छोड़कर चले गए। तालिबान ने राष्ट्रपति भवन एआरजी को अपने कब्जे में ले लिया है। पहले आंतरिक सरकार के गठन की बात कही जा रही थी, लेकिन अब तालिबान ने अंतरिम सरकार की संभावनाओं को खारिज कर दिया। तालिबान के एक अधिकारी ने जल्द ही अफगानिस्तान को इस्लामिक अमीरात आफ अफगानिस्तान घोषित किए जाने की बात कही है। दूसरी ओर अफगानिस्तान के नेताओं ने तालिबान के साथ सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण के लिए एक परिषद का गठन किया है।