सोनभद्र में भौंरों ने बकरी चराने गए बच्‍चों पर किया हमला, एक की मौत, आधा दर्जन गंभीर

 


चोपन क्षेत्र के पटिहवां में भौंरों के काटने से एक बच्ची की मौत हो गई है।

चोपन क्षेत्र के पटिहवां में भौंरों के काटने से एक बच्ची की मौत हो गई है। मृतक बच्ची आरती (8) पुत्री रामनिहोर निवासी पटिहवां की बताई गई है। घटना तब घटित हुई जब बच्चे जंगल में बकरी चरा रहे थे। तभी भौंरों ने अचानक उन सब पर हमला कर दिया।

सोनभद्र। चोपन थाना क्षेत्र के पटिहवां में भौंरों के काटने से एक बच्ची की मौत हो गई है। मृतक बच्ची आरती (8) पुत्री रामनिहोर निवासी पटिहवां की बताई गई है। घटना तब घटित हुई जब बच्चे जंगल में बकरी चरा रहे थे। तभी भौंरों ने अचानक उन सब पर हमला कर दिया। जिसमें आधा दर्जन बच्‍चे भी घायल हो गए। वहीं भौंरों का हमला होने के बाद बच्‍चों में भगदड़ मच गई और आनन फानन जो जहां था सिर पर पैर रखकर भागते हुए जान बचाने की कोशिश की। इस दौरान कई बच्‍चे चोटिल हुए तो कई भौंरों के हमले में जख्‍मी भी हो गए। 

jagran

गुरुवार की दोपहर चोपन थाना क्षेत्र के पटिहवां गांव में जंगल की ओर गांव के बच्‍चे बकरी लेकर चराने गए हुए थे। दोपहर में अचानक कहीं से भौंरों का हमला शुरू होने के बाद बच्‍चे दहशत में आ गए और जान बचाने के लिए आनन फानन वहां से भागने की कोशिश करने लगे। इस दौरान किसी को बकरियां हांकने तक का ख्‍याल नहीं रहा। आनन फानन गिरते पड़ते बच्‍चे अपने घर की ओर दौड़े। इस दौरान आरती (8) वहां से बचने में सफल नहीं हो सकी और भौंरों के झुंड का आक्रोश उसी पर टूट पड़ा। भौंरों के बुरी तरह से काटने से उसकी हालत खराब हो गई। काफी प्रयास के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका और दोपहर में उसने दम तोड़ दिया। वहीं ग्रामीणों के अनुसार साथ में गए करीब आधा दर्जन अन्‍य बच्‍चे भी भौंरों के हमले में बुरी तरह से जख्‍मी हुए हैं। कुछ बच्‍चों की हालत गंभीर है तो कुछ बच्‍चोंं को भौंरों के डंक का मामूली असर हुआ है। बच्‍चों का इलाज भी चल रहा है। गांव वालों के अनुसार शाम तक कई बच्‍चों का इलाज जारी रहा। वहीं भौंरों के हमले में मृत बालिका के परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल हो गया है। वहीं इस हादसे के बारे में वरिष्‍ठ प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।