यूपी : बागपत में सामूहिक दुष्कर्म के आरोपित ग्राम प्रधान के भाई समेत तीन पर केस दर्ज

 

बागपत में कार में लिफ्ट देकर महिला के साथ किया था दुष्‍कर्म।

बागपत में कार में लिफ्ट देकर महिला से सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में ग्राम प्रधान के भाई समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। तीनों आरोपितों ने महिला को लिफ्ट देकर बाद में जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस जांच कर रही है।

बागपत, संवाददाता। बागपत के कस्बा अग्रवाल मंडी टटीरी से कार में लिफ्ट देकर महिला से सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में ग्राम प्रधान के भाई समेत तीन लोगों के खिलाफ शुक्रवार को मुकदमा दर्ज कराया गया है। थाना प्रभारी देवेश कुमार सिंह का कहना है कि इस मामले में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। केस की विवेचना के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

बेहोशी के लिए दिया कोल्‍डड्रिंक

सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र के एक गांव की महिला ने गुरुवार को पुलिस को बताया था कि वह गत 23 जुलाई को घरेलू सामान की खरीदारी करने के लिए कस्बा अग्रवाल मंडी टटीरी में गई थी। वहां से वापस घर लौटने के लिए बस स्टैंड खड़ी थी। तभी एक कार में सवार होकर गांव के तीन लोग आए और उसको लेफ्ट देकर गांव के लिए चल दिए थे। आरोप है कि रास्ते में उसको कोल्डड्रिंक जैसा कोई पेय पदार्थ पिलाया गया, जिसके थोड़ी देर बाद ही बेहोशी की हालत में हो गई थी।

विवेचना के आधार पर कार्रवाई

सात-आठ घंटे बाद होश आया तो उसने अपने आप को एक कमरे में पाया। तीनों लोगों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। एक युवक ने तो उसके साथ अप्राकृतिक यौन शोषण भी किया। इनमें से एक आरोपित को वह अच्छी तरह से जानती है। आरोपितों ने धमकी दी थी कि घटना का किसी के सामने जिक्र किया तो जान से मार दिया जाएगा। पीडि़त ने आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। थाना प्रभारी देवेश कुमार सिंह का कहना है कि इस मामले में ग्राम प्रधान के भाई व दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। केस की विवेचना के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

यह था मामला

लिफ्ट देने के बहाने चार युवकों ने एक महिला को बागपत के बड़ौत से अगवा कर लिया था और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। पीडि़ता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जिवाना गांव के प्रधान के भाई समेत चार आरोपितों को गिरफ्तार किया था। गांव निवासी महिला ने दोघट थाने में मुकदमा दर्ज कराया कि 23 जुलाई को वह बड़ौत शहर में किसी काम से गई थी। वह घर आने के लिए दिल्ली बस स्टैंड पर खड़ी हो गई। इसी दौरान वहां थाना रमाला क्षेत्र के ग्राम जिवाना निवासी सन्नी पुत्र सुभाष, रितिक पुत्र अशोक और शिवांक पुत्र पप्पू साथी थाना दोघट के ग्राम दाहा निवासी आशु उर्फ भूरा पुत्र सूरजवीर के साथ स्कार्पियो कार में आकर उससे मिले। वह सन्नी को पहले से ही जानती थी। सन्नी ने उससे उसके घर छोड़ देने के लिए स्कार्पियो में बैठने के लिए कहा, तो वह स्कार्पियो में बैठ गई। इसके बाद जान से मारने की धमकी देकर सन्नी और उसके साथियों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।