भारत और अमेरिका को अहम क्षेत्रों में अधिक सहयोग करने की जरूरत, रिश्तें और होंगे मजबूत

 

भारत और अमेरिका को अहम क्षेत्रों में अधिक सहयोग करने की जरूरत, रिश्तें और होंगे मजबूत

अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कहा कि अमेरिका के साथ भारत के संबंध तेज गति से ऊपर की ओर बढ़ रहे हैं। दोनों ही देशों को स्वास्थ्य शिक्षा पर्यावरण परिवर्तन और रक्षा जैसे अहम क्षेत्रों में अधिक सहयोग करने की जरूरत है।

वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कहा कि अमेरिका के साथ भारत के संबंध तेज गति से ऊपर की ओर बढ़ रहे हैं। दोनों ही देशों को स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यावरण परिवर्तन और रक्षा जैसे अहम क्षेत्रों में अधिक सहयोग करने की जरूरत है। विगत रविवार को भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के अवसर पर संधू ने इंडिया हाउस में आयोजित एक समारोह में कहा कि भारत की अमेरिका के साथ समग्र वैश्विक रणनीतिक साझेदारी दोनों देशों के लोगों के विकास और समृद्ध की अहम कुंजी होगी।

दोनों देशों की अहम भूमिका व्यापक पैमाने पर वैश्विक स्तर की भी होगी। कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुए भारतीय राजदूत ने अपने आधिकारिक निवास इंडिया हाउस में ध्वजारोहण किया। उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद कहा कि द्विपक्षीय संबंध पुख्ता होते जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, उप राष्ट्रपति कमला हैरिस से भी बात की है।

प्रधानमंत्री मोदी ने क्वाड, पर्यावरण सम्मेलन और जी-सात समूह की बैठक में भी शिरकत की है। इन सब बैठकों से दोनों देशों के बीच के नजदीकी रिश्तों का पता चलता है। भारत-अमेरिकी संबंध बेहद मजबूत और करीबी हो गए हैं। उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों में हमें अभी भी बहुत कुछ हासिल करना बाकी है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य और फार्मा, डिजिटल और आइटी, शिक्षा व अनुसंधान, स्वच्छ ऊर्जा व पर्यावरण परिवर्तन, सामरिक और रक्षा जैसे अहम क्षेत्रों में अभी और काम करना बाकी है।