स्‍वतंत्रता दिवस को दिन भर गुल रही बिजली, रात में भी लोग बिलबिलाए

 



हाथरस के ईशेपुर बिजली घर पर जर्जर मशीन।
आजादी के 75 साल होने पर जश्न मनाने की तैयारी कर रहे लोगों की जिंदगी में बिजली ने खलल डाल दिया। कदिन और रात को कई गांवों में बिजली का संकट रहा। गर्मी होने के कारण लोग देर रात तक नहीं हो सके।

हाथरस।  आजादी के 75 साल होने पर खुशियां मनाने की तैयारी कर रहे लोगों की जिंदगी में बिजली ने खलल डाल दिया। कल दिन और रात को कई गांवों में बिजली का संकट रहा। गर्मी होने के कारण लोग देर रात तक नहीं सो हो सके। सिकंदराराऊ के एसडीओ को फोन कर हालात जानने की कोशिश की गई तो फोन स्विच आफ जा रहा था। सोमवार को सुबह लाइन चालू होने पर लोगों को राहत मिली। वहीं सासनी तहसील क्षेत्र में कस्बा के अलावा देहात क्षेत्र में दिन और रात में कई बार बिजली गई। अघोषित कटौती के कारण लोगों परेशानी का सामना करना पड़ा।

सिकंदराराऊ : तहसील के गांवों को सुचारू रूप से बिजली देने के लिए ग्रामीण अंचल में 30/11 केवी बिजली घर स्थापित किए गए थे। लेकिन बिजली घरों का रखरखाव ठीक न होने तथा अधिकारियों की उदासीनता के कारण लोगों को बिजली नहीं मिल पा रही है। क्षेत्र के ईशेपुर गांव में स्थापित बिजलीघर पर लगी तीनों इनकमिंग तथा एक आउटगोइंग मशीन पूरी तरह जर्जर हो चुकी है । छह महीने पहले नई मशीनों की डिमांड को देखते हुए यहां नई मशीनें भी भेज दी गईं, लेकिन उसके बाद अब तक बिजलीघर पर रखी नई मशीनों को पुरानी मशीनों की स्थान पर स्थापित नहीं किया जा सका है । नई मशीन लगाने के लिए आवश्यक टेंडर प्रक्रिया भी शुरू नहीं की गई है। नई मशीनें बिजली घर में धूल फांक रही हैं,जबकि पुरानी मशीनें आए दिन खराब हो जाती हैं, जिससे इस बिजलीघर से जुड़े 18 गांव के लोगों को बिजली नहीं मिल पाती। विद्युत आपूर्ति बुरी तरह से चरमराई हुई है। नियमित रूप से बिजली न मिलने के कारण ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। किसान अपने खेतों की सिंचाई नहीं कर पाते हैं। वहीं घरेलू कनेक्शन धारक उपभोक्ताओं को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ईशेपुर बिजलीघर से बाजीदपुर, मऊचिरायल, ईशेपुर तथा ग्रामीण फीडर नाम से चार फीडर जुड़े हुए हैं। इस समय बाजीदपुर और मऊ मऊ चिरायल दोनों फीडर को एक ही मशीन से बिजली आपूर्ति की जा रही है जिसके चलते आपूर्ति के हालात बहुत बदतर हो चुके हैं।

अगसौली बिजलीघर की मशीन ने भी दिया दगा

रविवार को अगसौली बिजलीघर की वीसीबी दगा दे गई । मशीन में आई खराबी के कारण कई गांवों की बिजली ठप हो गई । डंडेसरी एवं आसपास के 12 गांवों के लोगों को दिन व रात में बिजली नहीं मिली। सोमवार को सुबह मशीन ठीक होने के बाद लोगों को बिजली मिल पाई। गांव नगरिया निवासी किसान पुष्पेंद्र उपाध्याय का कहना है कि ईशेपुर बिजली घर पर लगी मशीनें काफी पुरानी और जर्जर हो चुकी हैं । क्षेत्र में बिजली की व्यवस्था का बुरा हाल है। रविवार को कई दिन बाद बिजली मिली है। शाम को फिर गायब हो गई।

शेपुर वाली खबर में ग्रामीणों के बयान

बोले ग्रामीण

बिजली घर की मशीनें जर्जर हो चुकी हैं । कई बार ग्रामीण इस बारे में ज्ञापन देकर मशीनों को बदलने की मांग कर चुके हैं । बिजली न आने के कारण ट्यूबवेल नहीं चल पा रहे हैं।

बिट्टू शर्मा, ईशेपुर।

मशीनें खराब होने के कारण सुचारू रूप से बिजली नहीं मिलती है । जिससे लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है। नई मशीनों को लगाकर बिजली आपूर्ति को सुचारू किया जाए ।

प्रशांत शर्मा, ईशेपुर ।

काफी समय से बिजली की समस्या बनी हुई है ।बिजली के आने-जाने का कोई शेड्यूल निश्चित नहीं है ।जब मशीन खराब हो जाती है तो कई दिन के लिए बिजली गायब हो जाती है।

सोमेश कुमार, ईशेपुर ।

विद्युत विभाग के उच्च अधिकारियों के ध्यान न देने के कारण क्षेत्र के लोगों को बिजली की समस्या से जूझना पड़ रहा है। समस्या का शीघ्र निदान कराया जाए । बिजली खराब होने के कारण किसान सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं।

राम लखन, गांव चिरायल।

बोले अभियंता

ईशेपुर बिजलीघर पर लगाने के लिए आई नई मशीनों को स्थापित किए जाने के संबंध में उच्च अधिकारियों को लिखकर भेज दिया गया है। नई मशीनें लगने के बाद ही बिजली सुचारू रूप से मिल सकेगी । जर्जर मशीनों के कारण बिजली आपूर्ति में दिक्कत होती है।

महेश चंद्र, जेई ईशेपुर बिजलीघर।

अगसौली बिजलीघर पर मशीन में खराबी आने के कारण रविवार को डंडेसरी और आसपास के गांवों में बिजली नहीं मिल सकी थी। अब मशीन ठीक करा दी गई है। मेरा फोन स्विच अाफ नहीं था।

राजीव कुमार, एसडीओ सिकंदराराऊ।

सासनी में भी रहा बिजली का संकट

सासनी : कस्बा में 15 अगस्त को कई बार बिजली की ट्रिपिंग हुई। उमस भरी गर्मी के कारण लोगों को दिन भ्र परेशानी झेलनी पड़ी। लोगों ने सोचा रात को बिजली से राहत मिलेगी लेकिन एेसा नहीं हुआ। रात को भी कई बार बिजली गई। आसपास के ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की कई बार कटौती हुई है।

शहर में भी रहा बिजली का संकट

शहर में भी बिजली की कई बार ट्रिपिंग हुई। बिजली आने व जाने से लोगों को परेशानी हुई। साप्ताहिक बंदी और अवकाश का दिन होने के कारण अधिकांश लोग घरों में थे। इस दौरान वोल्टेज की भी समस्या रही। दिन भर उमस भरी गर्मी के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।