प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नजर से देखिये मनमौजी हरियाणा की शानदार तस्वीर, बताई जबरदस्त खूबियां

 

हरियाणा के खिलाड़ियों के बातचीत करते पीएम नरेंद्र मोदी।

हरियाणवी खिलाड़ियों से संवाद के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हरियाणा के लोगों की जबरदस्त खूबियां बताई। पीएम की राय में हरियाणा वालों के बारे में कभी निराश होने की बात सोची भी नहीं जा सकती।

 चंडीगढ़। ''हरियाणा का आदमी हर पल, हर चीज में खुशी ढूंढता है। यह हरियाणा की विशेषता है। माहौल कैसा भी हो, हरियाणवी व्यक्ति हर चीज में ऐसे कमेंट करता है तो आप खिलखिलाकर हंस पड़ते हैं। मुझे पांच साल से ज्यादा समय तक हरियाणा में काम करने का मौका मिला है। मैंने पूरे हरियाणा को बहुत करीब से देखा है। हरियाणा वालों से कभी निराशा की उम्मीद नहीं की जा सकती। वह हर चीज का पूरा मजा लेते हैं और लेना भी चाहिए।'' यह संवाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ओलिंपिक खेलों में पदक जीतने वाले हरियाणा के खिलाड़ियों के बीच का है।

इन खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने और शाबाशी देने के लिए जब प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें अपने यहां बुलाया तो माहौल कुछ ऐसा ही था। सरकारी तामझाम और सुरक्षा कर्मियों से दूर रहकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़े ही आत्मीय ढंग से हरियाणा के खिलाड़ियों के साथ बातचीत की। उनके अनुभव सुने। अपनी राय दी। भारत के लिए भाला फेंकने में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा के साथ मोदी ने उनकी भविष्य की योजनाओं के बारे में बात की।

पहलवान रवि दहिया से मुखातिब मोदी ने पहले हरियाणा और हरियाणवियों की जमकर तारीफ की। फिर अपने मन की बात कही। मोदी बोले, रवि मुझे तुमसे एक शिकायत है। आप गोल्ड लाने के इरादे से ही मैदान में उतरे होंगे। नहीं आया गोल्ड। कोई बात नहीं, लेकिन मुझे यह बताओ कि तुम हंसते क्यों नहीं थे। हो सकता है कि आपने अपने मन पर कोई प्रेशर ले लिया हो। रवि बोले, नहीं जी...ऐसा तो नहीं है। मुझे उम्मीद थी कि गोल्ड आएगा। मोदी ने संवाद को आगे बढ़ाया। बोले, हरियाणा के लोगों की यही खासियत है। उन्हें उम्मीद, पराक्रम, परिश्रम, आशा और साहस कभी नहीं छोड़ना चाहिए। निराशा का तो नामो-निशान नहीं होना चाहिए। वैसे भी हरियाणा वालों से कभी निराशा का उम्मीद नहीं की जा सकत

jagran

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ टोक्यो ओलिंपिक में हिस्सा लेकर लौटे खिलाड़ी।

मोदी के इस हौसले पर रवि और पास खड़े बजरंग पूनिया मुस्कुराए। रवि बोले, सर... इस बार भले ही गोल्ड से चूक गया, लेकिन अगली बार पक्का गोल्ड लाऊंगा। मोदी के चेहरे पर संतुष्टि की मुस्कान आती है। मोदी बोले, हरियाणा वालों के बारे में कभी निराश होने की बात सोची भी नहीं जा सकती। मैं जब भी हरियाणा गया, लोगों से मिला, मैंने देखा कि हर व्यक्ति खुश रहता है, मजे में रहता है। हरियाणवी हर चीज का बड़ा मजा लेते हैं। इंटरनेट मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हरियाणवी खिलाड़ियों से यह संवाद खूब चर्चा में है।

 jagran

ओलिंपिक में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा को गले लगाते सीएम मनोहर लाल। 

हरियाणा ने खोला खिलाड़ियों के लिए खजाना

हरियाणा सरकार ने व्यक्तिगत स्पर्धा में नीरज चोपड़ा, रवि दहिया और बजरंग पूनिया को स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक जीतने के लिए छह करोड़, चार करोड़ और ढ़ाई करोड़ रुपये की राशि प्रदान की है। नीरज चोपड़ा हाल ही में मुख्यमंत्री मनोहर लाल से उनके आवास पर मिलकर गए हैं। पुरुष हाकी टीम के दो खिलाड़ियों सुमित कुमार और सुरेंद्र कुमार को भी ढ़ाई-ढ़ाई करोड़ रुपये मिले। खिलाड़ियों को रियायती दरों पर एचएसवीपी के प्लाट देने के साथ-साथ जाब आफर लेटर भी सौंपा गया। दीपक पुनिया, उदिता, शर्मिला देवी, सविता पुनिया, रानी रामपाल, निशा, नेहा गोयल, नवनीत कौर, नवजोत कौर, मोनिका मलिक और पूजा रानी को चौथा स्थान पाने पर 50-50 लाख रुपये के चेक और जाब आफर लेटर दिए गए। ओलंपिक में सहभागिता पर सीमा बिस्ला, सोनम मलिक, अंशु मलिक, विनेश फोगाट, यशस्विनी सिंह देसवाल, संजीव राजपूत, मनु भाकर, अभिषेक वर्मा, सुमित नागल, दीक्षा डागर, मनीष कौशिक, अमित पंघाल, विकास कृष्ण, सीमा पूनिया, संदीप कुमार और राहुल को 15-15 लाख रुपये के चेक और जाब आफर लेटर दिए गए।

हरियाणा भाजपा की मजबूत नींव रहे नरेंद्र मोदी

हरियाणा में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनी है। पार्टी को यहां तक लाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भरपूर योगदान रहा। नरेंद्र मोदी हरियाणा भाजपा की नींव के मजबूत पत्थर हैं। जब मोदी गुजरात की राजनीति से बाहर आए तो उन्हें हरियाणा का प्रभारी बनाया गया था। इस पद पर उन्होंने 1995 से लेकर 2000 तक यानी छह साल काम किया। हर जिले में गए और संगठन को नया तेवर दिया। बूथ मैनेजमेंट मोदी की ही परिकल्पना थी। उन दिनों कांग्रेस, इनेलो और हरियाणा विकास पार्टी का बोलबाला था। उस दौर में भाजपा को खड़ा कर मोदी ने बड़ा काम किया।

पार्टी को दिए मोदी तेवर का परिणाम यह रहा कि 1991 में जिस भाजपा ने सिर्फ दो सीटें जीती थीं और 70 पर उसके प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई थी, उसने 1996 के चुनाव में 11 सीटों पर विजय हासिल की। सिर्फ तीन सीट पर ही जमानत जब्त हुई। उस वक्त रमेश जोशी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष हुआ करते थे और मौजूदा मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रांतीय संगठन मंत्री के तौर पर काम कर रहे थे। इसी वजह से मोदी ने मनोहर के साथ अपने रिश्ते को नमो (नरेंद्र मोदी) और मनो (मनोहर लाल) के रूप में एक रैली में प्रसारित किया था।

नरेंद्र मोदी का हरियाणा की राजनीति से पुराना रिश्ता

नरेंद्र मोदी का हरियाणा की राजनीति से पुराना रिश्ता है। 2018 में सांपला (रोहतक) में हुई एक रैली में उन्होंने अपने पुराने रसोइये दीपक को मंच पर मिलने के लिए बुला लिया था। मोदी रोहतक के अलावा पंचकूला, चंडीगढ़, गुरुग्राम और फरीदाबाद में सबसे ज्यादा रहे। मोदी ने हरियाणा के साथ इसी भावुक रिश्ते की वजह से 2014 के लोकसभा चुनाव का शंखनाद रेवाड़ी से किया था। तब मोदी भाजपा की तरफ से प्रधानमंत्री पद के दावेदार बनाए गए थे। हरियाणा की धरती से अपना लगाव जाहिर करते हुए मोदी ने फरीदाबाद में हुई एक रैली में कहा था कि वह यहां की सारी समस्याओं से वाकिफ हैं। उन्होंने पूरे प्रदेश को नजदीक से देखा है, स्कूटर पर बैठकर यहां की खाक छानी है।