पाकिस्तानी अदालत ने महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा तोड़ने वाले को बेल दी

 

तीन बार मूर्ति पर किया गया हमला
एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार आरोपित रिजवान के वकील ने अदालत को बताया कि पुलिस ने जांच पूरी कर ली है और उसके कब्जे से हथौड़ा भी ले लिया है। समा टीवी के मुताबिक आरोपित को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया था।

इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान की एक अदालत ने शुक्रवार को लाहौर फोर्ट में सिख शासक महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा को तोड़ने वाले आरोपित को जमानत दे दी है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार आरोपित रिजवान के वकील ने अदालत को बताया कि पुलिस ने जांच पूरी कर ली है और उसके कब्जे से हथौड़ा भी ले लिया है। समा टीवी के मुताबिक आरोपित को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया था।

ध्यान रहे कि महाराजा रणजीत सिंह की 180वीं पुण्यतिथि पर 27 जून, 2019 को उनकी कांसे की परत वाली नौ फुट ऊंची प्रतिमा लाहौर के किले में स्थापित की गई थी। उसके बाद से इसे हाल के समय में तीसरी बार तोड़ा गया है। भारत सरकार ने भी इस घटना की कड़ी निंदा की है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रमुख मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी इस घटना के लिए पाकिस्तान के कट्टरपंथियों की कड़ी आलोचना की है।