चंडीगढ़ में अनुराग ठाकुर की जन आशीर्वाद यात्रा में किसान समर्थकों दिखाए काले झंडे, पुलिस ने हिरासत में लिया

 

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ भाजपा नेता संजय टंडन और अरुण सूद।
वीरवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर इस यात्रा के लिए चंडीगढ़ पहुंचे और सुबह 10 बजे सेक्टर-28 के हिमाचल भवन से उन्होंने इस यात्रा को हरी झंडी दिखाई। लेकिन जैस ही यात्रा शुरू हुई उसकी दौरान किसान समर्थकों को इसकी भनक लग गई और वह विरोध करने सेक्टर-28 पहुंच गए।

 संवाददाता, चंडीगढ़। देश भर में आज से भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाने के लिए केंद्रीय मंत्रियों द्वारा जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत की गई है। वीरवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर इस यात्रा के लिए चंडीगढ़ पहुंचे और सुबह 10 बजे सेक्टर-28 के हिमाचल भवन से उन्होंने इस यात्रा को हरी झंडी दिखाई। लेकिन जैस ही यात्रा शुरू हुई उसकी दौरान किसान समर्थकों को इसकी भनक लग गई और वह यात्रा का विरोध करने सेक्टर-28 पहुंच गए। इसके चलते भाजपा नेताओं को किसान संमर्थकों के विरोध का भी सामना करना पड़ा। इस मौके पर हिमाचल प्रदेश के प्रभारी संजय टंडन और चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद भी मौजूद थे। 

कार्यक्रम में युवा मोर्चा के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में पहुंचे थे। भाजपा नेताओं को किसान समर्थकों का विरोध भी झेलना पड़ा। जैसे ही यात्रा के मध्यमार्ग पर पहुंची तभी किसान समर्थकों ने भाजपा नेताओं का विरोध करना शुरू कर दिया और काले झंडे दिखाए। हालांकि पुलिस की सख्ती के बीच कुछ गिने-चुने किसान समर्थक ही पहुंचे थे, जिन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया। 

गौरतलब है कि भाजपा की तरफ से जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान देशभर में कार्यक्रम हो रहे हैं। यात्रा का मुख्य उद्देश्य मोदी सरकार के कार्यकाल की उपलब्धियों को जनता के सामने पेश करना है। मंत्री इस बात पर भी फोकस कर रहे हैं कि किस तरह से सरकार ने मुश्किल समय में जनता के लिए निर्णायक कदम उठाए हैं। 212 लोकसभा क्षेत्रों में करीब 19567 किलोमीटर की यात्रा भाजपा के मंत्री तय करेंगे। 19 राज्यों के करीब 265 जिलों में ये जन आशीर्वाद यात्रा हो रही है। इस यात्रा के दौरान पूरे देशभर में करीब 1663 छोटे-बड़े कार्यक्रम होने हैं।

भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद का कहना है कि इस कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह था। केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों से इस समय हर कोई खुश है। उन्होंने कहा कि इस समय जो केंद्रीय मंत्री बनाए गए हैं उनमें महिलाओं और आरक्षित वर्ग के नेताओं को विशेष तवज्जो दी गई है।