अमित शाह का ट्वीट, मोदी जी के नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर शांति व समृद्धि का बन रहा है पर्याय

 

मोदी जी के नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर शांति व समृद्धि का पर्याय बन रहा है।

मोदी जी के नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर शांति व समृद्धि का पर्याय बन रहा है। जम्मू-कश्मीर के सभी आंगनवाड़ी केंद्रों में जल से शुद्ध पेयजल की आपूर्ति को समय से पूर्व सुनिश्चित करने के लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का अभिनंदन करता हूं।

जम्मू। गृहमंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताते हुए ट्वीट किया कि मोदी जी के नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर शांति व समृद्धि का पर्याय बन रहा है। जम्मू-कश्मीर के सभी आंगनवाड़ी केंद्रों में जल से शुद्ध पेयजल की आपूर्ति को समय से पूर्व सुनिश्चित करने के लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का अभिनंदन करता हूं।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए हर घर जल और जल स्वच्छ मिशन के दो वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में जम्मू-कश्मीर में अब तक 22,422 स्कूलों और 23,926 आंगनवाड़ी केंद्रों में अब है नल से शुद्ध पेयजल की सप्लाई हो चुकी है।

जम्मू-कश्मीर प्रदेश में गत महीने जल शक्ति विभाग के अधिकारियों की बैठक आयुक्त सचिव एके साहू की अध्यक्षता में हुई थी। इसमें जल जीवन मिशन, नेशनल रुरल ड्रिंकिंग वॉटर प्रोग्राम और नाबार्ड के तहत जारी योजनाओं की समीक्षा की गई। इसमें बताया गया कि जल जीवन मिशन योजना को 2022 तक समूचे केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में 100 प्रतिशत पूरा करने का लक्ष्य है। इसके अंतर्गत ग्राम पंचायतों, ग्राम पेयजल और स्वच्छता समितियों को पानी की योजना बनाने के असीमित अधिकार दिए गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2019 को पूरे देश में हर घर में नल से जल को सुनिश्चित बनाने के लिए जल जीवन मिशन की शुरुआत की थी। इस मिशन के तहत पूरे देश में के घर में नल से पेयजल की सुविधा काे सुनिश्चित बनाने की अंतिम समय सीमा दिसंबर 2024 तय की गई है जबकि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में सरकार इस मिशन को दिसंबर 2022 तक पूरा करने की दिशा में तेजी से बढ़ रही है।

बीते जुलाई में मुख्य सचिव अरुण कुमार मेहता ने भी जल जीवन मिशन से जुड़े अधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर में 30 सितंबर 2021 तक जल जीवन मिशन के दूसरे व तीसरे चरण को हर हाल में पूरा करने का निर्देश देते हुए कहा था कि 15 अगस्त 2021 तक प्रत्येक स्कूल और आंगनवाड़ी केंद्र में नल से पेयजल आपूर्ति को सुनिश्चित होनी चाहिए।

संबंधित अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के चार जिलाें में नल से जल का 100 फीसद लक्ष्य हासिल किया जा चुका है जबकि आठ जिलों में 90 फीसद काम हो चुका है। सिर्फ दो जिलों में ही प्रत्येक घर में नल से जल पहुंचाने का काम अभी 80 फीसद से नीचे है। शेष आठ जिलों में 80-90 फीसद काम हो चुका है। जम्मू-कश्मीर के ग्रामीण इलाकों में 18.16 लाख घर हैं और उनमें से 10 लाख घरों में 31 मार्च 2021 तक नल से जल पहुंचाया गया है जबकि मौजूदा वित्त वर्ष के दौरान 4.9 लाख घरों में नल से जल को सुनिश्चित बनाया जाएगा। बीते माह तक प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में 20245 सरकारी स्कूलों और 2177 आंगनवाड़ी केंद्रों में नल से जल को सुनिश्चित बनाया जा चुका था। शेष बचे स्कूलों और आंगनवाड़ी केंद्राें यह सुविधा 15 अगस्त तक तक सुनिश्चित की गई है। इस समय प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में स्थित 22422 सरकारी स्कूलों और 23926 आंगनवाड़ी कंद्रों में नल से जल की सुविधा है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जल जीवन मिशन के तहत जम्मू कश्मीर में अर्जित उपलब्धियों पर प्रसन्नता जताते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि पहले की सरकारों नेदशकों तक जम्मू-कश्मीर के नागरिकों को विकास से वंचित रख सिर्फ अपने परिवारों की चिंता की। मोदी जी ने यहाँ विकास के नये युग की शुरुआत कर गरीब नागरिकों को मुख्यधारा से जोड़ा उसी का परिणाम है कि आज जम्मू-कश्मीर हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है।