खेला होबे दिवस का भाजपा ने सड़क पर उतर कर किया विरोध, दिलीप और सुवेंदु को पुलिस ने किया गिरफ्तार

 


दिलीप और सुवेंदु को पुलिस ने किया गिरफ्तार
भाजपा ने इस दिन को बंगाल के इतिहास का काला दिन करार देते हुए ममता सरकार की खिंचाई की। भाजपा सांसद देवश्री चौधरी ने कहा कि 1946 में इसी दिन कोलकाता में हिंदु बंगालियों की हत्या हुई थी। यह सरकार हत्या का खेल खेल रही है।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की घोषणा के मद्देनजर सोमवार को पूरे राज्यभर में ‘खेला होबे दिवस’ मनाया जा रहा है। दूसरी ओर, भाजपा ने खेला होबे दिवस’ के विरोध में शहीद सम्मान यात्रा की शुरुआत की। इसके मद्देनजर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी सहित अन्य नेताओं ने मेयो रोड स्थित गांधी मूर्ति के सामने धरना दिया।

इस दौरान पुलिस के साथ भाजपा के कार्यकर्ता भिड़ गए। वहीं, पुलिस ने बिना अनुमति के धरना देने के आरोप में दिलीप घोष, सुवेंदु अधिकारी, सांसद सौमित्र खां सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने कोरोना महामारी कानून के उल्लंघन के कारण भाजपा नेताओं को गिरफ्तार किया।

दरअसल, भाजपा ने इस दिन को बंगाल के इतिहास का काला दिन करार देते हुए ममता सरकार की खिंचाई की। पूर्व केंद्रीय मंत्री व रायगंज से भाजपा सांसद देवश्री चौधरी ने कहा कि 1946 में इसी दिन कोलकाता में हिंदु बंगालियों की हत्या हुई थी। यह सरकार हत्या का खेल खेल रही है।वहीं, दिलीप घोष ने कहा कि ममता बनर्जी ने खेल को राजनीति और हिंसा के खेल में बदल दिया है। वह सिंडिकेट और कटमनी का खेल खेल रही हैं। हम चाहते हैं कि फ़ुटबॉल वापस आए। आइए फ़ुटबॉल खेलें। हमारी नई पीढ़ी खेल पर ध्यान दे, ताकि बंगाल का देश में सम्मान बढ़े।