स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सीमा विवाद में जान गंवाने वाले असम के पुलिस वालों को मुख्यमंत्री सेवा पदक

 


असम के पुलिस वालों को मुख्यमंत्री सेवा पदक।(फोटो: दैनिक जागरण)
असम-मिजोरम सीमा से लगे कछार जिले में पिछले महीने हुए खूनी संघर्ष में शहीद हुए छह पुलिसकíमयों को 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मरणोपरांत मुख्यमंत्री विशेष सेवा पदक से सम्मानित किया जाएगा। चार अन्य पुलिसकíमयों को भी मुख्यमंत्री उत्कृष्ट सेवा पदक।

गुवाहाटी, प्रेट्र। असम-मिजोरम सीमा से लगे कछार जिले में पिछले महीने हुए खूनी संघर्ष में शहीद हुए छह पुलिसकर्मियों को 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मरणोपरांत मुख्यमंत्री विशेष सेवा पदक से सम्मानित किया जाएगा। शनिवार को जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, राज्य सरकार हमले में गंभीर रूप से घायल हुए कछार जिले के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक निंबालकर वैभव चंद्रकांता और चार अन्य पुलिसकíमयों को भी मुख्यमंत्री उत्कृष्ट सेवा पदक से सम्मानित करेगी।

मरणोपरांत पुरस्कार पाने वालों में सब इंस्पेक्टर स्वपन कुमार राय, हवलदार श्याम सुंदर दुसाद, कांस्टेबल समसुज्जमां बरभुइया, लिटन सुकलाबैद्य, मजरुल हक बरभुइया और नजरुल हुसैन शामिल हैं।मुख्यमंत्री के उत्कृष्ट सेवा पदक प्राप्त करने वाले अन्य लोगों में पुलिस आयुक्त कार्यालय, गुवाहाटी के इंस्पेक्टर मुकुल काकोटी, बिश्वनाथ जिले के इंस्पेक्टर सत्येन सिंह हजारी, सब इंस्पेक्टर मब्लिक ब्रह्मा और कार्बी आंगलांग के कांस्टेबल बोरसिंह बे शामिल हैं।

जयशंकर ने किया आजादी का अमृत महोत्सव का उद्घाटन

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आइसीसीआर) की ओर से आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम का उद्घाटन किया। 75वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जयशंकर ने ट्वीट किया, आइसीसीआर की ओर से आयोजित अमृत महोत्सव कार्यक्रम का उद्घाटन किया। आयोजन ऐतिहासिक अवसर के अनुकूल रहा। एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में 75वां वर्ष यह कल्पना करने का प्रारंभिक बिंदु है कि हम अपनी शताब्दी पर कहां होंगे। इस अवसर पर अपने संबोधन में जयशंकर ने कहा, 15 अगस्त हमारे लिए एक ऐतिहासिक अवसर होगा। निश्चित रूप से यह उत्सव मनाने का मौका होगा, लेकिन इसके साथ ही हमें आत्मनिरीक्षण और नया संकल्प भी लेना चाहिए। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान प्रतिभागियों की प्रस्तुति की भी सराहना की।

म्यांमार के हालात पर ब्रुनेई के विदेश मंत्री से जयशंकर की वार्ता

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने शनिवार को म्यांमार के हालात पर ब्रुनेई के विदेश मंत्री दातो हाजी एरीवान के साथ विचार-विमर्श किया। एरीवान म्यांमार के लिए एसोसिएशन आफ साउथ ईस्ट एशियन नेशंस (आसियान) के विशेष दूत भी हैं।