दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना बोले शिकायतकर्ता की बातों को ध्यान व धैर्य के साथ सुनें पुलिसकर्मी

 

जनकपुरी में आयोजित कार्यक्रम में पुलिस अधिकारियों से बात करते दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना।

दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने पुलिसकर्मियों से कहा कि वे थाना में शिकायत लेकर पहुंचे व्यक्ति की बातों को ध्यान व धैर्य के साथ सुनें। समस्या सुनने के बाद यह भी सुनिश्चित करें कि शिकायकर्ता की समस्याओं का कानून के अनुरुप जो भी उचित समाधान हो उसे सुनिश्चित करें।

नई दिल्ली संवाददाता। दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने पुलिसकर्मियों से कहा कि वे थाना में शिकायत लेकर पहुंचे व्यक्ति की बातों को ध्यान व धैर्य के साथ सुनें। समस्या सुनने के बाद यह भी सुनिश्चित करें कि शिकायकर्ता की समस्याओं का कानून के अनुरुप जो भी उचित समाधान हो, उसे सुनिश्चित करें। दिल्ली पुलिस आयुक्त ने ये बातें जनकपुरी स्थित महाराजा सूरजमल संस्थान के सभागार में पश्चिमी जोन के अंतर्गत आने वाले पुलिस जिलों के अधिकारियों के साथ संवाद कार्यक्रम में कहीं।

इस दौरान जोन के विशेष आयुक्त संजय सिंह, पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त उर्विजा गोयल सहित तमाम पुलिस अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान पश्चिमी जोन के अंतर्गत आने वाले रेंज के संयुक्त आयुक्त, बाहरी, द्वारका, रोहिणी, बाहरी उत्तरी व उत्तरी पश्चिमी जिलों के उपायुक्त व तमाम थानों के थानाध्यक्ष सहित बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद थे।आयुक्त ने कहा कि प्रत्येक पुलिसकर्मी का यह कर्तव्य है कि वह कार्य के दौरान अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करे ताकि विभाग की प्रतिष्ठा बढ़ाने में उसका योगदान शामिल हो। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने विभिन्न जिलों में कानून व्यवस्था, सामुदायिक पुलिस प्रणाली, अपराध की स्थिति के अलावा उन प्रयासों की भी जानकारी ली जो पुलिस की ओर से चलाए जा रहे हैं। पुलिस के लिए क्या क्या चुनौतियां हैं, इसपर भी उन्होंने चर्चा की।

इस दौरान वायरलेस कम्युनिकेशन, थानाध्यक्ष को आर्थिक कार्यों के लिए अधिक अधिकार देना, थानों में शिफ्ट प्रणाली लागू करना, छानबीन के दौरान फोरेंसिक जांच रिपोर्ट से जुड़ी समस्याओं पर चर्चा की। आयुक्त ने सभी को भरोसा दिलाया कि तमाम बातों पर जल्द से जल्द निर्णय लेकर समाधान सुनिश्चित किया जाएगा। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि आज पुलिस को अपनी छवि को और मजबूत किए जाने की जरूरत है। इसके लिए अत्याधुनिक तकनीक से जुड़ी जानकारियां, पुलिसिंग से जुड़े तमाम कौशल की जानकारी होनी चाहिए।