FacebooktwitterwpkooEmailaffiliates काबुल पर तालिबान का कब्जा अमेरिकी इतिहास में सबसे बड़ी हार, माइक पोंपिओ बोले- ट्रंप होते तो...

 

काबुल पर तालिबान का कब्जा अमेरिकी इतिहास में सबसे बड़ी हार, माइक पोंपिओ बोले- ट्रंप होते तो...

ट्रंप ने फिर बाइडन पर अफगान नीति को लेकर साधा निशाना। माइक पोंपिओ और निक्की हेली ने भी मौजूदा प्रशासन को जमकर उधेड़ा। निक्की हेली ने काबुल पर तालिबान के कब्जे को बाइडन प्रशासन की असफलता बताया है। उन्होंने कहा वहां से सुरक्षित निकलने की तालिबान से भीख मांगना दुर्भाग्यपूर्ण।

वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि बिना किसी विरोध के तालिबान का काबुल पर कब्जा अमेरिकी इतिहास की सबसे बड़ी हार है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के साथ बाइडन ने जो किया, वह ऐतिहासिक है।

तालिबान का काबुल में राष्ट्रपति पैलेस पर कब्जा होने के बाद अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ने अपने संक्षिप्त बयान यह बात कही है। काबुल में तेजी से बदले घटनाक्रम पर व्हाइट हाउस ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

राष्ट्रपति जो बाइडन इस दौरान कैंप डेविड में सप्ताहांत की छुट्टी मना रहे थे। उन्होंने अपने शीर्ष राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के साथ अफगानिस्तान के मौजूदा हालात के बारे में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए बैठक की है।

अमेरिका की पूर्व में संयुक्त राष्ट्र में राजदूत रहीं निक्की हेली ने काबुल पर तालिबान के कब्जे को बाइडन प्रशासन की असफलता बताया है। उन्होंने कहा कि वहां से सुरक्षित निकलने की तालिबान से भीख मांगना दुर्भाग्यपूर्ण है। जिन अमेरिकी सैनिकों ने अफगानिस्तान में बलिदान दिया, उनके परिवारों ने भी इस स्थिति की कल्पना नहीं की होगी।

पूर्व विदेश मंत्री माइक पोंपिओ ने कहा कि अभी मैं डोनाल्ड ट्रंप जैसे कमांडर इन चीफ के साथ मंत्री होता तो तालिबान को समझ में आ जाता कि अमेरिका के खिलाफ साजिश रचने का क्या परिणाम होता है। कासिम सुलेमानी को इसका सबक सिखाया गया था। तालिबान ने भी पूर्व में यह सबक सीखा है।

तालिबान से कोई भीख नहीं मांगी : ब्लिंकन

वर्तमान विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने इन बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्होंने तालिबान से कुछ नहीं मांगा है। इस दौरान तालिबान को स्पष्ट कर दिया था कि हमारे कर्मचारियों या काम में कोई हस्तक्षेप किया तो उसका तुरंत जवाब मिलेगा। तालिबान की सरकार को मान्यता देने के संबंध में पूछे जाने पर ब्लिंकन ने कहा कि भविष्य की सरकार जो महिलाओं के मूल अधिकार बरकरार नहीं रखती। जो आतंकवादियों को पनाह देती है और अमेरिका या उसके सहयोगी देशों के खिलाफ साजिश रचती है, तो ऐसा कुछ नहीं होने जा रहा।