छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में नक्सली हमला, ITBP के सहायक कमांडेंट समेत 2 शहीद

 

छत्तीसगढ़: नक्सल हमले में ITBP के जवान शहीद
नारायणपुर में नक्सली हमले की जानकारी देते हुए बस्तर के आईजी सुंदरराज पी ने बताया असिस्टेंट कमांडेंट सुधाकर शिंदे और असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर गुरमुख सिंह  इसमें शहीद हो गए। ये दोनों ही ITBP के 45वीं बटालियन में थे।

नारायणपुर, प्रेट्र। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में शुक्रवार को एक  नक्सली हमला हुआ जिसमें भारत तिब्बत सीमा पुलिस के दो जवान हुए शहीद हो गए।  बस्तर रेंज के इंस्पेक्टर जनरल  सुंदरराज पी ने बताया कि यह हमला कादेमेता कैंप पर दोपहर 12.10 बजे हुआ। घात लगाए नक्सलियों ने कैंप से 600 मीटर की दूरी पर जवानों पर हमला किया। इसके बाद जवानों से एक AK-47 रायफल, दो बुलेटप्रूफ जैकेट और वाकी टाकी भी लूटकर नक्सली फरार हो गए। 

शहीद होने वाले जवान ITBP की 45वीं बटालियन के ई कंपनी के जवान थे। बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने इसकी जानकारी दी है। पुलिस ने बताया, 'असिस्टेंट कमांडेंट सुधाकर शिंदे और असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर गुरमुख सिंह इसमें शहीद हो गए। ये दोनों ही ITBP के 45वीं बटालियन में थे।' हमले के बाद दुर्घटनास्थल पर सैन्य मदद पहुंचा दी गई है। साथ ही सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। देखा  जा रहा है। माना जा रहा है आज का नक्सली हमला उसका बदला लेने के लिए किया गया है। दरअसल दंतेवाड़ा के कुआकोंडा थाना क्षेत्र से सुरक्षा बलों ने तीन नक्सलियों हुंगा करटाम (25), आयता माड़वी (25) और पोज्जा उर्फ लाठी करटाम (28) को गिरफ्तार किया था। पुलिस अधिकारियों ने बताया था कि रविवार को कुआकोंडा थाने से पुलिस दल को बड़ेगुडरा और ऐटेपाल गांव की ओर रवाना किया गया था। जब दल ऐटेपाल गांव के करीब जंगल में था तब वहां से तीन संदिग्ध व्यक्ति भागने लगे। पुलिस दल ने घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया। पूछताछ में पुलिस दल को उन्होंने अपना नाम हुंगा करटाम, आयता माड़वी और पोज्जा उर्फ लाठी करटाम बताया।