पंजाब में जरनैल सिंह भिंडरावाला के भतीजे के घर NIA की रेड, संदिग्ध बैग मिले, जालंधर से बेटे को उठाया

 

नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने पूर्व जत्थेदार जसबीर सिंह रोडे के बेटे गुरमुख सिंह को हिरासत में लिया है। फाइल फोटो

नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने श्री अकाल तख्त साहिब के पूर्व जत्थेदार जसबीर सिंह रोडे के जालंधर स्थित घर में छापामारी की। घर से संदिग्ध सामान बरामद हुआ है। एनआईए ने बेटे को हिरासत में ले लिया है। जसबीर सिंह जरनैल सिंह भिंडरावाला का भतीजा है।

 जालंधर। पंजाब में टिफिन बम, ग्रेनेड और बार्डर पार से आ रही हथियारों की खेपों के बीच नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआइए) ने श्री अकाल तख्त साहिब के पूर्व जत्थेदार जसबीर सिंह रोडे के जालंधर स्थित घर पर छापामारी की है। जसबीर सिंह रोडे जरनैल सिंह भिंडरावाले का भतीजा है। एनआइए की टीम ने जसबीर सिंह रोडे के बेटे गुरमुख सिंह को को हिरासत में ले लिया है। एनआइए ने वीरवार आधी रात जालंधर के न्यू हरदयाल नगर में भी छापामारी करके गुरमुख सिंह को पकड़ा है। जांच एजेंसी ने उनके कमरे से तीन बैग भी बरामद किए गए हैं। गुरमुख सिंह रोडे को कपूरथला की अदालत में पेश किया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि उसने विस्फोटक सामग्री थी, लेकिन वह आरडीएक्स था या कुछ और, विस्फोटक सामग्री थी भी या नहीं, इस बारे में अभी कोई पुष्टि नहीं है। एनआइए ने जब घर में छापामारी की तो पूर्व जत्थेदार घर में ही मौजूद थे। उनकी सेहत काफी खराब है। 

जरनैल सिंह भिंडरावाले का भतीजा है जसबीर सिंह रोडे

जसबीर का रोडे गांव जरनैल सिंह भिंडरावाले का पैतृक गांव ही है। उनका भाई लखबीर सिंह रोडे इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (आइसवाईएफ) का प्रमुख है। उसके संगठन के सदस्य यूरोप और कनाडा समेत कई देशों में बैठे हैं। पंजाब में आतंकवाद जब चरम पर था तब जसबीर सिंह रोडे श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार थे। वह पहले श्री गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पर पंथक एजेंडा को दरकिनार करने का आरोप लगा चुके हैं। 

बेटे को साजिश के तहत फंसाया जा रहाः जसबीर

एनआईए की कार्रवाई पर जसबीर सिंह रोडे ने कहा कि उनके बेटे को साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। उनके घर से कुछ भी बरामद नहीं हुआ है।

अमृतसर में आतंकियों से भी मिला है टिफिन बम

पंजाब में हथियार और गोाला-बारूद मिलने की घटनाएं लगाता बढ़ रही हैं। पिछले दिनों ही पंजाब पुलिस ने अमृतसर में दो संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था। उनके कब्जे से टिफिन बम के अलावा ग्रेनेड और पिस्टल आदि बरामद किए गए थे। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पहले ही कह चुके हैं कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद चीन-पाकिस्तान और तालिबान का गठजोड़ भारत और खास तौर पर पंजाब के लिए बड़ी मुश्किलें खड़ी कर सकता है। बता दें कि नापाक पड़ोसी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और वह लगातार बार्डर पर ड्रोन के जरिये हेरोइन और हथियारों की खेप भारत भेजने की फिराक में लगा रहता है।