लाल किले की प्राचीर से PM मोदी बोले- उनका सपना है कि छोटे किसान भारत की शान बनें


लाल किले की प्राचीर से PM मोदी बोले- उनका सपना है कि छोटे किसान भारत की शान बनें
नरेंद्र मोदी ने कहा है कि उनका सपना है कि देश के छोटे किसान भारत की शान बनें और केंद्र सरकार इसे ही ध्यान में रखकर कृषि सुधारों की दिशा में कदम बढ़ा रही हैं। साथ ही कहा कि गांव में स्वसहायता समूहों से 8 करोड़ से अधिक महिलाएं जुड़़ी।

नई दिल्ली, प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि उनका सपना है कि देश के छोटे किसान भारत की शान बनें और केंद्र सरकार इसे ही ध्यान में रखकर कृषि सुधारों की दिशा में कदम बढ़ा रही है। आजादी की 75वीं सालगिरह पर लाल किले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘छोटा किसान बने देश की शान, यह हमारा सपना है। आने वाले वर्षों में हमें देश के छोटे किसानों की सामूहिक शक्ति को और बढ़ाना होगा। उन्हें नई सुविधाएं देनी होंगी।’’

प्रधानमंत्री बोले- 80 प्रतिशत से भी ज्यादा किसानों के पास दो हेक्टेयर से कम जमीन

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के 80 प्रतिशत से ज्यादा किसान ऐसे हैं, जिनके पास दो हेक्टेयर से भी कम जमीन है। उन्होंने कहा, ‘‘देश में पहले जो नीतियां बनीं, उनमें इन छोटे किसानों पर जितना ध्यान केंद्रित करना था, वह नहीं किया गया। अब इन्हीं छोटे किसानों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिए जा रहे हैं।’’

महिलाओ की भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की प्रशंसा

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि गांव में स्वसहायता समूहों से 8 करोड़ से अधिक महिलाएं जुड़़ी हैं और वह एक से बढ़कर एक उत्पाद बनाती हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इनके उत्पादों को देश में और विदेश में बड़ा बाजार मिले, इसके लिए अब सरकार ई-कॉमर्स मंच तैयार करेगी।’’

इसके साथ ही पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि 21वीं सदी में भारत के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने से कोई भी बाधा रोक नहीं सकती। हमारी ताकत हमारी जीवटता है, हमारी ताकत हमारी एकजुटता है। हमारी प्राणशक्ति, राष्ट्र प्रथम, सदैव प्रथम की भावना है।आगे कहां पीएम ने कहा कि आज दुनिया, भारत को एक नई दृष्टि से देख रही है और इस दृष्टि के दो महत्वपूर्ण पहलू हैं। एक आतंकवाद और दूसरा विस्तारवाद। भारत इन दोनों ही चुनौतियों से लड़ रहा है और सधे हुए तरीके से बड़े हिम्मत के साथ जवाब भी दे रहा है।