दिल्ली की सड़कों पर खराब तरीके से वाहन चलाने वाले 100 लोगों की लिस्ट तैयार, कहीं आपका भी तो नाम नहीं

 

ड्राइविंग लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा- मुक्तेश चंदर, स्पेशल सीपी (यातायात), दिल्ली।
टॉप 100 खराब चालकों की सूची तैयार की जा रही है। हम उन्हें उनकी खराब ड्राइविंग आदतों के बारे में एक पत्र भेजेंगे। उन्हें सड़क सुरक्षा परामर्श कक्षाओं के लिए बुलाया जाएगा और अगर वे फिर भी नहीं सुनेंगे तो उनका ड्राइविंग लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। दिल्ली की सड़कों पर खराब तरीके से वाहन चलाने वालों की अब खैर नहीं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस राजधानी के ऐसे 100 खराब वाहन चालकों की एक लिस्ट तैयार कर रहा है, ऐसे सभी खराब ड्राइवरों को पहले उनकी खराब ड्राइविंग आदतों के बारे में पत्र भेजा जाएगा, उन्हें आगाह किया जाएगा। साथ ही उनको सड़क सुरक्षा परामर्श कक्षाओं के लिए बुलाया जाएगा, एक बार कक्षा में बुलाकर परामर्श दिए जाने के बाद उनकी ड्राइविंग की आदतों को देखा जाएगा, इसके बाद भी यदि वो नहीं सुधरे तो उनका ड्राइ‌विंग लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा। स्पेशल सीपी, यातायात मुक्तेश चंदर ने इस बारे में जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि ऐसे ड्राइवरों की लिस्ट तैयार है और जल्द ही उनको उनके पते पर पत्र भेजा जाएगा और ठीक ड्राइविंग के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी।

राजधानी के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है जिसके तहत अब ऐसे खराब ड्राइवरों की एक लिस्ट तैयार की जा रही है। इस लिस्ट को तैयार करने में जगह-जगह लगाए गए सीसीटीवी कैमरों की भी मदद ली जा रही है। अभी तक पुलिस की ओर से टॉप टेन वॉंटेड बदमाशों, गैंगस्टरों आदि की ही लिस्ट तैयार की जाती रही है मगर अब पहली बार ऐसे खतरनाक ड्राइवरों की लिस्ट तैयार करने की दिशा में काम होता दिख रहा है। उन्होंने बताया कि पूरी दिल्ली के ऐसे 100 ड्राइवरों की लिस्ट तैयार की जा रही है। इन ड्राइवरों को पकड़ा तो नहीं जाएगा मगर इनको ट्रैफिक के नियम कानून ज्यादा ठीक से पढ़ाए जाएंगे जिससे ये दुबारा से उनका उल्लंघन न करें।मालूम हो कि दिल्ली की कई सड़कों पर वाहन चालक बड़े ही बेतरतीब तरीके से वाहन चलाते हैं, नियमों की धज्जियां उड़ाते हैं और कई बार मासूम लोगों की जान के दुश्मन भी बन जाते हैं। अक्सर रात के समय वाहन चालकों की स्पीड कई गुना अधिक हो जाती है इसी वजह से रात के समय तेज गति के अधिक एक्सीडेंट होते हैं। वैसे दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की ओर से राजधानी की कई सड़कों पर वाहनों की स्पीड की लिमिट पहले से तय कर दी गई है मगर उसके बाद भी वाहन चालक उन नियमों का पालन नहीं करते हैं। जिसकी वजह से हादसों की संख्या पर अंकुश नहीं लग पाता है।