10 हजार कदमों के बजाय सात हजार कदमों से भी सुधर सकती है आपकी सेहत

 

7,000 कदमों से असमय जान जाने का खतरा 50 से 70 फीसद तक कम हो जाता है

यह मानकर चला जाता है कि अच्छी सेहत के लिए कम से कम 10 हजार कदम तो चलना ही चाहिए। लेकिन अब एक अध्ययन में सामने आया है कि असल में अच्छी सेहत के लिए रोजाना औसतन 7000 कदम चलना भी पर्याप्त होता है।

नई दिल्ली, पेट्र। जबसे स्मार्टवाच ने कदमों को गिनना शुरू किया है, बहुत से लोग रोजाना कम से कम 10 हजार कदम चलने का लक्ष्य रखते हैं। ज्यादातर स्मार्टवाच में टार्गेट के तौर पर यही डिफाल्ट वैल्यू रहती है। यह मानकर चला जाता है कि अच्छी सेहत के लिए कम से कम इतना तो चलना ही चाहिए। इतना नहीं चल पाने पर कई लोग हतोत्साहित भी हो जाते हैं। ऐसा सही नहीं है। कई साल तक किए गए एक अध्ययन में सामने आया है कि असल में अच्छी सेहत के लिए रोजाना औसतन 7,000 कदम चलना भी पर्याप्त होता है। यूनिवर्सिटी आफ मैसाच्यूसेट्स ने इस संबंध में अध्ययन किया है।

-11 साल तक दो हजार से ज्यादा लोगों पर किया गया अध्ययन

-7,000 कदमों से असमय जान जाने का खतरा 50 से 70 फीसद तक कम हो जाता है

अहम निष्कर्ष

इस बात से बहुत फर्क नहीं पड़ता है कि कदम बहुत तेजी से चले गए या धीमे-धीमे। धीरे-धीरे चलने से भी सेहत पर लगभग समान असर ही पड़ता है।                                           

व्यापक शोध की जरूरत

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि वयस्कों को हफ्ते में कम से कम 150 मिनट का हल्का व्यायाम या 75 मिनट का सख्त व्यायाम करना चाहिए। कदमों को लेकर ऐसा कोई निर्देश नहीं है। सेहत और कदमों के बीच संबंध को लेकर बहुत ज्यादा अध्ययन नहीं किए गए हैं। निश्चित तौर पर इस दिशा में व्यापक शोध की जरूरत है।