फ्री कोरोना टीका व कैंपस खोलने समेत 10 मांगों को लेकर प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय में छात्रों का धरना-प्रदर्शन

 

10 मांगों को लेकर प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय में छात्रों का धरना-प्रदर्शन
महानगर के प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय में छात्रों ने मुफ्त कोरोना टीका और आफलाइन कक्षाएं शुरू करने की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया है। छात्रों का धरना व प्रदर्शन सोमवार को शुरू हुआ जो मंगलवार को भी जारी रहा।

राज्य ब्यूरो, कोलकाताः महानगर के प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय में छात्रों ने मुफ्त कोरोना टीका और आफलाइन कक्षाएं शुरू करने की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया है। छात्रों का धरना व प्रदर्शन सोमवार को शुरू हुआ जो मंगलवार को भी जारी रहा। छात्रों का कहना है कि जब अन्य सभी प्रकार की मनोरंजक गतिविधियां शुरू हो गई हैं, जबकि बार-रेस्टोरेंट खुल गए हैं, तो शिक्षण संस्थान में ताला क्यों लगा है?

सूत्रों के अनुसार फ्री टीकाकरण व आफलाइन कक्षाओं के साथ छात्रों की कुल 10 मांगें हैं। जिनमें पुस्तकालय और विज्ञान विषयों के लिए प्रयोगशाला जल्द खोली जाए। पुस्तकालय बंद रहने के कारण छात्रों का पठन-पाठन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना है कि छात्र अनुभाग के सामान्य कामकाज को फिर से शुरू करने की आवश्यकता है, क्योंकि इससे छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। छात्र-छात्राएं जिन्हें छात्रवृत्ति मिली हैं, उनके ग्रेड कार्ड की तत्काल व्यवस्था की जाए। तत्काल समीक्षा और पुन: परीक्षा की व्यवस्था की जानी चाहिए। छात्र संसद सहित विश्वविद्यालय के छात्रों को लेकर एक कमेटी का गठन किया जाए। तत्काल छात्रवास भी खोले जाने चाहिए। से बचाने के लिए टीका लगवाने के लिए तत्काल कदम उठाने और संस्थान दोबारा खोलने की मांग की थी। शिक्षक संघ ने बसु को लिखे पत्र में कहा है कि पहले चरण में टीकाकरण करने के बाद अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को अलग बैच में आफलाइन कक्षा की अनुमति दी जा सकती है। पत्र में शोध गतिविधियों को भी विश्वविद्यालय में दोबारा शुरू करने की अनुमति देने का अनुरोध किया गया है। जूटा के महासचिव पार्थ प्रतिम राय ने कहा कि परिसर को दोबारा खोलने की तैयारियों के तहत हम तत्काल शोधार्थियों और अन्य विद्यार्थियों को कोविड-19 टीके की खुराक देने के लिए कदम उठाने की मांग करते हैं।