नगर निगम ने 12 फूड वैन संचालकों को भेजा नोटिस, कहा- हफ्ते भर में लाइसेंस का नवीकरण कराएं


रांची नगर निगम ने लाइसेंस रिन्यूअल नहीं कराने वाले फूड वैन संचालकों को नोटिस जारी किया है।

रांची निगम क्षेत्र में अब तक 17 फूड वैन संचालकों ने लाइसेंस लिया है। पांच ने इसका रिन्यूअल करा लिया है। नगर निगम अवैध फूड वैन पर कार्रवाई का खाका तैयार कर रहा है। राजधानी में चल रहे अवैध फूड वैन के खिलाफ जल्द ही कार्रवाई करेगा।

रांची,सं। रांची नगर निगम ने लाइसेंस रिन्यूअल नहीं कराने वाले 12 फूड वैन संचालकों को नोटिस जारी किया है। नोटिस जारी कर इन्हें हफ्ते भर में लाइसेंस नवीनीकरण के लिए आवेदन जमा करने को कहा है। राजधानी में कुल 17 फूड वैन संचालकों ने लाइसेंस ले रखा है। इनमें से पांच ने चालू वित्तीय वर्ष के लिए लाइसेंस रिन्यूअल करा लिया है। बाकी को नोटिस जारी किया गया है। रांची नगर निगम जल्द ही राजधानी में चल रहे अवैध फूड वैन के खिलाफ कार्रवाई करेगा। इसका खाका तैयार कर रहा है।

राजधानी में इन दिनों गैर लाइसेंसी फूड वैन की बाढ़ आ गई है। स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत छूट मिलने के बाद फूड वैन का कारोबार भी शुरू हो गया है। राजधानी में 250 फूड वैन चल रही हैं। इनमें से महज 17 ने ही लाइसेंस लिए हैं। फूड वैन के 11 मालिकों ने लाइसेंस के लिए नगर निगम में आवेदन दिया है। मगर अभी उनके आवेदन पर लाइसेंस जारी नहीं हो पाया है। राजधानी में गैर लाइसेंसी फूड वैन की भरमार होने से नगर निगम को राजस्व की चपत लग रही है। अब नगर निगम जल्द ही गैर लाइसेंसी फूड वैन के खिलाफ अभियान चलाने जा रहा है। इसके लिए, कवायद शुरू है।

कंडम वाहन में फूड वैन चलाने वालों को नहीं मिलेगा लाइसेंस

राजधानी रांची में शाम होते ही फूड वैन का कारोबार शुरू जाता है। शहर के सभी फूड वैन मालिक नगर निगम से लाइसेंस लेने के लिए आगे नहीं आए हैं। नगर निगम का आकलन है कि इनमें से तकरीबन डेढ़ सौ फूड वैन कंडम वाहनों में लगाए जा रहे हैं। लाइसेंस जारी करने की नगर निगम की शर्त है कि वैन के कागजात दुरुस्त होने चाहिए। इसका टैक्स अदा होना चाहिए। लेकिन कंडम वाहन के टैक्स अदा नहीं किए गए हैं। इसलिए कंडम वाहन में लगने वाले फूड वैन को लाइसेंस जारी नहीं किया जाएगा।

 नगर निगम के द्वारा फूड वैन बंद कराने के अभियान के बाद भी अगर कोई संचालक कंडम फूड वैन में कारोबार करता है, तो उससे जुर्माना वसूला जाएगा। यह जुर्माना 25 हजार रुपये तक होगा।नगर निगम ने फूड वैन को लाइसेंस देने के लिए कुछ शर्तें लगाई हैं। इनमें सबसे अहम शर्त यह है कि फूड वैन सड़क किनारे वहां होनी चाहिए, जहां काफी चौड़ा फुटपाथ हो। सड़क से सटकर लगने वाली फूड वैन को लाइसेंस नहीं दिया जाएगा। इसे अतिक्रमण मानते हुए हटाया जाएगा और कार्रवाई होगी। लाइसेंस जारी करने के पहले नगर निगम के कर्मचारी फूड वैन स्थल निरीक्षण करते हैं। उप नगर आयुक्त कुंवर सिंह पाहन ने कहा कि राजधानी में फूड वैन अब लगना शुरू हुए है। जल्द ही अभियान चला कर गैर लाइसेंसी फूड वैन के मालिकों पर कार्रवाई की जाएगी।