वेट लिफ्टिंग कैंप में खिलाड़ियों ने दिखाया दमखम, 15 खिलाड़ियों ने लिया भाग, कैंप संपन्न

 

कैंप के समापन अवसर पर खिलाड़ियों में किट और रिफ्रेशमेंट भी वितरित की गई।
जम्मू-कश्मीर वेट लिफ्टिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष युद्धवीर सिंह वरिष्ठ उपप्रधान हरभजन सिंह महासचिव ओंकार सिंह कल्याण सिंह लखविंद्र सिंह गिल की उपस्थिति में कैंप में खिलाड़ियों ने भाग लिया।पहली सितंबर से 10 सितंबर तक आयोजित वेट लिफ्टिंग का कैंप इंद्रपाल सिंह और रवि सिंह की देखरेख में हुआ।

जम्मू,  संवाददाता। मौलाना आजाद स्टेडियम के नए इंडोर स्पोर्ट्स काम्पलेक्स में वेट लिफ्टिंग खेल से जुड़े खिलाड़ियों हेतु 10 दिवसीय कैंप का आयोजन किया गया। इसमें 15 खिलाड़ियों ने भाग लेकर अपना दमखम दिखाया।

जम्मू-कश्मीर वेट लिफ्टिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष युद्धवीर सिंह, वरिष्ठ उपप्रधान हरभजन सिंह, महासचिव ओंकार सिंह, कल्याण सिंह, लखविंद्र सिंह गिल की उपस्थिति में कैंप में खिलाड़ियों ने भाग लिया। जेएंडके वेट लिफ्टिंग एसोसिएशन द्वारा जम्मू-कश्मीर स्पोटर्स काउंसिल के तत्वाधान से पहली सितंबर से 10 सितंबर तक आयोजित वेट लिफ्टिंग का कैंप इंद्रपाल सिंह और रवि सिंह की देखरेख में हुआ। कैंप के समापन अवसर पर खिलाड़ियों में किट और रिफ्रेशमेंट भी वितरित की गई। इंद्रपाल सिंह ने बताया कि कैंप से खिलाड़ियों को आगामी प्रतियोगिताओं में काफी लाभ मिलेगा। उन्हें नई तकनीक और खेल में हुए सुधार बारे जागरूक किया गया है। कैंप के दौरान खिलाड़ियों की विशेष रूप से फिटनेस पर सबसे अधिक ध्यान दिया गया।कैंप में अमरिंद्र सिंह, हर्ष शर्मा, गौतम कोहली, शिवम शर्मा, पंकज कुमार, करण कुमार साहू, मनप्रीत सिंह, वरदेश कौशल, राहुल चोपड़ा, माणिक सजगोत्रा, आसिम रशीद, राजवीर सिंह, अभय सैनी, पारस गुप्ता और ऋतिक कुमार ने भाग लिया।

उपराज्यपाल ने उड़ी के प्रतिनिधिमंडल से भेंट कर समस्याएं सुनीं

उड़ी के लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल रविवार को बीडीसी चेयरपर्सन रफीक अहमद की अध्यक्षता में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के साथ मिला। इसमें जिला विकास परिषद, बीडीसी चेयरपर्सन शंगस के अलावा सामाजिक और धार्मिक संगठनों के सदस्य भी थे। उन्होंने उपराज्यपाल से सड़क सुपर्क, सीमांत पर्यटन, मोबाइल नेटवर्क सहित विकास से संबधित कई मुद्दे उठाए। उपराज्यपाल ने कहा कि सरकार दूरदराज के क्षेत्रों के विकास पर जोर दे रही है। ग्रामीण स्तर पर योजनाएं बनाकर उन्हें लागू किया जा रहा है। उन्होंने सभी से इसी तरह जनहित के मुद्दों को उनके समक्ष रखने के लिए कहा। इससे पहले पूर्व एमएलसी सुरेंद्र अंबरदार ने भी उपराज्यपाल से मिलकर उनके समक्ष जनहित के मुद्दे रखे। उन्होंने कश्मीरी पंडितों की अचल संपत्ति को वापस दिलाने के लिए सरकार द्वारा पोर्टल बनाने की भी सराहना की।