जम्मू यूनिवर्सिटी के अंडर ग्रेजुएट-आनर्स कोर्स में दाखिले के लिए 24 सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन

 


जम्मू यूनिवर्सिटी इस बार एंट्रेंस टेस्ट आयोजित नहीं करेगा। कोरोना से उपजे हालात को देखकर यह फैसला किया गया है।

पांच साल के एलएलबी कोर्स बीबीए होटल मैनेजमेंट बीकाम आनर्स कोर्स में दाखिले के लिए 22 सितंबर तक आवेदन किया जा सकता है। लेट फीस के 24 सितंबर तक आवेदन किया जा सकता है। जम्मू यूनिवर्सिटी इस बार एंट्रेंस टेस्ट आयोजित नहीं करेगा।

जम्मू, राज्य ब्यूरो । जम्मू यूनिवर्सिटी ने अपने कैंपस में विभिन्न अंडर ग्रेजुएट व आनर्स कोर्स के लिए दाखिला प्रक्रिया को शुरू कर दिया है। कोरोना के कारण दाखिला प्रक्रिया को दो महीने देरी से शुरू किया गया है। विद्यार्थियों से 24 सितंबर तक आनलाइन आवेदन करने के लिए कहा गया है।

पांच साल के एलएलबी कोर्स, बीबीए होटल मैनेजमेंट, बीकाम आनर्स कोर्स में दाखिले के लिए 22 सितंबर तक आवेदन किया जा सकता है। लेट फीस के 24 सितंबर तक आवेदन किया जा सकता है। जम्मू यूनिवर्सिटी इस बार एंट्रेंस टेस्ट आयोजित नहीं करेगा। कोरोना से उपजे हालात को देखकर यह फैसला किया गया है।

जम्मू यूनिवर्सिटी इसी महीने अंडर ग्रेजुएट के छठे सेमेस्टर की आनलाइन परीक्षा आयोजित करने जा रहा है। उसके बाद ही पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स में दाखिले शुरू करेगा। इस बार पीजी कोर्स के लिए एंट्रेंस टेस्ट नहीं होगा।

कालेजों में आफलाइन तरीके से काउंसलिंग शुरू कर दी गई है

वहीं क्लस्टर यूनिवर्सिटी जम्मू के अधीन आने वाले चार डिग्री कालेजों में अंडर ग्रेजुएट कोर्स में दाखिले के लिए फाइनल रैंक सूचियां जारी हो चुकी है। अब काउंसलिंग होगी। यूनिवर्सिटी ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। कालेजों में आफलाइन तरीके से काउंसलिंग शुरू कर दी गई है। इसके लिए विद्यार्थियों को रैंक के आधार पर मोबाइल या ईमेल के जरिए सूचित किया जा रहा है। उन्हें संबंधित कालेजों में काउंसलिंग के जरिए पहुंचना है।

काउंसलिंग के समय ही असल दस्तावेजों की जांच होगी। बताते चले कि क्लस्टर यूनिवर्सिटी में 21 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने आवेदन किया है। सीटें छह हजार के करीब हैं। ऐसे में विद्यार्थियों को कड़ी प्रतिस्पर्धा से गुजरना होगा। कम रैंक वाले विद्यार्थियों ने जम्मू यूनिवर्सिटी के अधीन आने वाले कालेजों में दाखिले के लिए भी आवेदन किया है। इनमें वो कालेज भी शामिल है जो दो साल पहले जम्मू शहर में खाेले गए थे।