25 सितंबर को अमेरिका में संयुक्त राष्ट्र महासभा के हाई लेवल सेगमेंट को संबोधित करेंगे पीएम मोदी


25 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे पीएम मोदी।(फोटो: फाइल)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 और 25 सितंबर को अमेरिका की यात्रा पर जाएंगे। जिसमें वह अमेरिका आस्ट्रेलिया और जापान के नेताओं के साथ क्वाड शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। इसके साथ ही वह 25 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 76वें सेशन के हाई लेवल सेगमेंट को संबोधित करेंगे।

नई दिल्ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 25 सितंबर को अमेरिका के न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सेशन के हाई लेवल सेगमेंट की जेनरल असेंबली को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  25 सितंबर को न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करेंगे। विदेश मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी।

इस साल की जनरल असेंबली का विषय है ‘कोविड-19 से उबरने की आशा के माध्यम से लचीलेपन का निर्माण, स्थायी रूप से पुनर्निर्माण, लोगों के अधिकारों का सम्मान करना और संयुक्त राष्ट्र को पुनर्जीवित करना’है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 सितंबर को न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र जनरल एसेम्बली को संबोधित करने अमेरिका जाने वाले हैं। पीएम मोदी से ठीक एक दिन पहले यानी 24 सितंबर को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपना संबोधन करेंगे। ज़ाहिर है बदले वैश्विक हालातों में दुनिया कि नज़र प्रधानमंत्री मोदी समेत सभी प्रभावशाली नेताओं पर होगी।

पीएम नरेंद्र मोदी 24 सितंबर को होने वाले Quad शिखर सम्मेलन में लेंगे भाग

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  24 सितंबर को भारत और अमेरिका समेत चार देशों के मजबूत गठजोड़ क्वाड लीडर्स सम्मेलन  में हिस्सा लेने अमेरिका पहुंचेंगें। इस समिट में पहली बार क्वॉड के चारों देशों के राष्ट्राध्यक्षों को आमने-सामने बैठकर कई मुद्दों पर बातचीत करते का मौका मिलेगा। इससे पहले कोरोना माहामारी के कारण क्वाड की बैठकें वर्चुअल तरीके से हुई हैं। वहीं इस सम्मेलन में पीएम मोदी के अलावा अमेरिका राष्ट्रपति जो बाइडन , ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्काट मॉरिसन  और जापान के पीएम योशिहिदे सुगा  भी शामिल होंगे।

इसके अलावा इस सम्मेलन कोरोना महामारी, हिन्द प्रशांत महासागर क्षेत्र, साइबर स्पेस, उभरती टेक्नोलॉजी, कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे, समुद्री सुरक्षा, मानवीय सहायता / आपदा राहत, जलवायु परिवर्तन और शिक्षा पर भी बातचीत होगी। वहीं व्हाइट हाउस में भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान के बीच भी एक अहम मीटिंग होगी। इस सम्मेलन की सबसे खास बात ये है कि अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार बाइडेन से पीएम मोदी की आमने-सामने मुलाकात करेंगे।