भोपाल : बेटी के जन्म पर खास अंदाज में किया खुशी का इजहार, फ्री खिलाए 50 हजार गोल गप्पे


14 साल गोलगप्पों का स्टाल लगा रहे हैं अंचल गुप्ता

घर में बेटी के आने से वो काफी खुश हैं। महिलाओं बच्चों व बड़े-बुजुर्गों ने भरपेट गोलगप्पे खाकर अंचल गुप्ता को बेटी के जन्म की बधाई दी। क्षेत्रीय विधायक रामेश्वर शर्मा ने भी अंचल गुप्ता को बधाई दी।

भोपाल। कोलार जिले के दानिशकुंज निवासी अंचल गुप्ता ने बेटी के जन्म की खुशी कुछ खास अंदाज से मनाई है। उन्होंने रविवार को लोगों को फ्री में गोल गप्पे खिलाए। उन्होंने पचास हजार गोलगप्पे और पानी तैयार किया। इसके लिए अंचल गुप्ता ने 10 स्टाल लगाए और हर आने-जाने वाले को गोलगप्पे (फुल्की) खिलाए। अंचल गुप्ता ने बताया कि दो दिन से वो गोल गप्पे बना रहे थे। उन्होंने पांच घंटे में 50 हजार गोल गप्पे खिलाने का लक्ष्य रखा था, जो पूरा हो गया।

बता दें कि अंचल गुप्ता गोल गप्पों का स्टाल लगाते हैं और वो 14 साल से यह काम कर रहे हैं। घर में बेटी के आने से वो काफी खुश हैं। महिलाओं, बच्चों व बड़े-बुजुर्गों ने भरपेट गोलगप्पे खाकर अंचल गुप्ता को बेटी के जन्म की बधाई दी। क्षेत्रीय विधायक रामेश्वर शर्मा ने भी अंचल गुप्ता को बधाई दी। उन्होंने कहा कि बेटी के आगमन की खुशी मनाने का यह तरीका बहुत अच्छा लगा। यह बेटी बचाओ व बेटी पढ़ाओ अभियान को बढ़ावा देने का जीता-जागता उदाहरण है। घर में लक्ष्मी आने की खुशी में ऐसे ही लोगों को खुशियां मनानी चाहिए, जिससे बेटियों को बचाया जा सके।

अंचल गुप्ता ने इस मौके पर कहा कि समाज में आज भी कई लोग बेटियों को मां की कोख में मार देते हैं। आए दिन ऐसी घटनाएं समाचार पत्रों में पढ़ने को मिलती हैं। इससे ऐसा लगता है कि आखिर हम किस समाज में जी रहे हैं कि बेटियों को जन्म से पहले ही मार दिया जाता है। इसी के चलते मैंने संकल्प लिया था कि घर में बेटी होगी तो लोगों को नि:शुल्क फुल्की खिलाऊंगा। 17 अगस्त को बेटी का आगमन हुआ।

अंचल गुप्ता ने रविवार को अपने बेटे का भी जन्मदिन मनाया। इस मौके पर विधायक रामेश्वर शर्मा की मौजूदगी में केक काटा गया। इसके बाद गोलगप्पे खिलाने का सिलसिला शुरू हुआ। कोलार के बंजारी, बीमाकुंज, नयापुरा, ललिता नगर, सर्वधर्म, आशीर्वाद कालोनी समेत लगभग पूरे कोलार क्षेत्र से लोग गोल गप्पे खाने वहां आए।