गोवा में केरल के यात्रियों के लिए 5 दिनों तक क्वारंटाइन हुआ अनिवार्य, यात्रा करने से पहले जान लें ये नियम

 

गोवा में केरल के यात्रियों के लिए 5 दिनों तक क्वारंटाइन हुआ अनिवार्य

गोवा में केरल के यात्रियों के लिए 5 दिनों का क्वारंटाइन अनिवार्य कर दिया गया है। गोवा सरकार ने केरल में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए इस प्रकार का फैसला लिया है। ताकी इस संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। यात्रा करने से पहले जानें ये नियम।

पणजी, पीटीआइ। गोवा में केरल के यात्रियों के लिए 5 दिनों का क्वारंटाइन अनिवार्य कर दिया गया है। गोवा सरकार ने केरल में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए इस प्रकार का फैसला लिया है। विशेषकर छात्रों और केरल से काम के सिलसिले में आने वालों के लिए पांच दिन का क्वारंटाइन अनिवार्य किया गया है। रविवार को जारी एक अधिसूचना के मुताबिक, गोवा प्रशासन ने तटीय राज्य में कैसीनो सहित कई गतिविधियों पर प्रतिबंध जारी रखते हुए राज्यव्यापी कर्फ्यू को 20 सितंबर तक बढ़ा दिया है। सबसे पहले यहां पर 24 घंटे का कर्फ्यू इस साल 9 मई को लगाया गया था और तब से इसे नियमित रूप से बढ़ाया जा रहा है।

हालांकि, गोवा सरकार ने अधिकांश गतिविधियां खोल दी हैं, लेकिन कैसीनो जैसी गतिविधियों को फिर से खोलना बाकी है। अधिसूचना में यह भी उल्लेख किया गया है कि केरल से आने वाले सभी छात्र और कर्मचारी पांच दिनों के लिए क्वारंटाइन रहना होगा। अधिसूचना में आगे कहा गया है कि पांच दिनों की समाप्ति के बाद, जिन्हें क्वारंटाइन किया गया था, उनका आरटी-पीसीआर परीक्षण किया जाएगा। केरल से आने वाले छात्रों और कर्मचारियों के अलावा अन्य लोगों को आरटी-पीसीआर नकारात्मक परीक्षण रिपोर्ट पेश करनी होगी और पांच दिनों के लिए होम क्वारंटाइन रहना होगा।

केरल में कल आए थे 20 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मामले

बता दें कि केरल में रविवार को 20,240 नए कोरोना के मामले सामने आए थे। इस दौरान 67 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। राज्य में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 43 लाख 75 हजार 431 (43,75,431) हो गई है। राज्य में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 22,551 है।