देश में कोविड रोधी टीकाकरण का आंकड़ा 75 करोड़ के पार, जानें इस अभियान में किस पायदान पर खड़ा है भारत

 

देश में कोरोना के खिलाफ जारी टीकाकरण का आंकड़ा 75 करोड़ को पार कर गया है।

कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई अब निर्णायक मुकाम पर पहुंच गई है। देश में कोरोना के खिलाफ जारी टीकाकरण का आंकड़ा 75 करोड़ को पार कर गया है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मनसुख मंडाविया ने इसकी जानकारी दी। पढ़ें यह रिपोर्ट...

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान में भारत में अब तक कुल 75 करोड़ से ज्यादा डोज लगाई जा चुकी हैं। इनमें से 18 करोड़ लोगों को दोनों डोज दी जा चुकी हैं, जबकि ऐसे लोगों की संख्या 39 करोड़ है जिन्हें अभी सिर्फ पहली डोज ही दी गई हैं। सोमवार को यह जानकारी देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश टीकाकरण अभियान में नए आयाम गढ़ रहा है। टीकाकरण को लेकर प्रधानमंत्री ने सबका साथ, सबका प्रयास का मंत्र दिया है। सबका साथ, सबका प्रयास के मंत्र के साथ विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान निरंतर नए आयाम गढ़ रहा है।

छह राज्‍यों में सभी वयस्‍कों को लग चुकी पहली डोज

हैशटैग सबको वैक्सीन मुफ्त वैक्सीन और हैशटैग आजादी का अमृत महोत्सव के साथ स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट किया, 'भारत को बधाई! आजादी के 75वें साल में देश ने 75 करोड़ टीका लगाने का आंकड़ा पार कर लिया है।' अब तक छह राज्यों-सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, गोवा, दादरा एवं नगर हवेली, लद्दाख और लक्षद्वीप में सभी वयस्क लोगों को कोरोना रोधी वैक्सीन की पहली डोज दे दी गई है।

WHO ने सराहा 

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन यानी डब्‍ल्‍यूएचओ ने भी कोविड रोधी टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए भारत सरकार को बधाई दी है। समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने कहा कि भारत ने तेजी से टीकाकरण करते हुए केवल 13 दिनों में 10 करोड़ खुराक लोगों को लगाने का काम किया है।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा है कि 75 करोड़ वैक्सीन लगना अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। इसके लिए मैं प्रधानमंत्री, देश की जनता, कोविड वॉरियर्स और राज्य सरकारों का आभार प्रकट करता हूं। दुनिया के देशों के मुकाबले भारत टीकाकरण की मुहिम में बहुत आगे निकला है।

देश में ऐसे बढ़ता गया सुरक्षा का दायरा 

  • देश में 16 जनवरी को टीकाकरण की शुरुआत हुई।
  • पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया।
  • पहली मार्च से दूसरे चरण के तहत 60 से अधिक उम्र के लोगों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45 से 60 साल के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ।
  • पहली अप्रैल से 45 से 60 साल की उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण शुरू किया गया।
  • इस दौरान विपक्षी दलों ने 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण शुरू करने का दबाव डाला। साथ ही राज्यों को सीधे टीका खरीदने और लगाने का अधिकार देने की मांग की।
  • पहली मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण शुरू किया गया।
  • राज्यों को सीधे टीका खरीदने की व्यवस्था के बाद काफी अराजकता फैली।
  • 21 जून से केंद्र ने 18 साल से अधिक सभी को निशुल्क टीका लगाने का एलान कर दिया।

दुनिया में टीकाकरण

आबादी के प्रतिशत के आधार पर टीकाकरण में अव्वल देश संयुक्त अरब अमीरात है तो आबादी की संख्या के आधार पर भारत दूसरे स्थान पर है। 328 करोड़ लोगों को दुनियाभर में अब तक कम से कम एक डोज लग चुकी है। यह कुल वैश्विक आबादी का 41.7 फीसद है।