श्रीनगर और बड़गाम के मोबाइल यूजर्स के लिए खुशखबरी, आइजी कश्मीर बोले-शाम 7 बजे से बहाल होगी मोबाइल इंटरनेट सेवा

 

कश्मीर के आइजी ने बताया कि श्रीनगर और बड़गाम में मोबाइल इंटरनेट की सेवा बहाल कर दी जाएगी।
कश्मीर के आइजी के विजय कुमार ने बताया कि आज शाम सात बजे से कश्मीर संभाग के श्रीनगर और बड़गाम में मोबाइल इंटरनेट की सेवा बहाल कर दी जाएगी। विद्यार्थियों को मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने से काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ा है। इसके लिए उन्हें खेद है।

जम्मू। कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की मौत के बाद श्रीनगर और बड़गाम में बंद मोबाइल इंटरनेट की सेवा आज शाम एक बार फिर से बहाल कर दी जाएगी। इसकी जानकारी कश्मीर के आइजी के विजय कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि आज शाम सात बजे से कश्मीर संभाग के श्रीनगर और बड़गाम में मोबाइल इंटरनेट की सेवा बहाल कर दी जाएगी। विद्यार्थियों को मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने से काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ा है। इसके लिए उन्हें खेद है।

यहां यह बता दें कि गत बुधवार को वयोवृद्ध कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का देहांत हो गया था। उनकी मौत के बाद प्रशासन ने कश्मीर घाटी में मोबाइल और इंटरनेट सेवा पूरी तरह से बंद कर दी थी। हालात खराब न हों, इसको मद्देनजर रखते हुए जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे पर भी यातायात तीन दिनों तक बंद कर दिया गया था। हालांकि तीन दिन पहले ही अब एक बार फिर से कश्मीर घाटी में सब कुछ सामान्य हो गया है। जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे को खोलने और ब्राड बैंड इंटरनेट सेवा व मोबाइल सेवा को बहाल करने के बाद श्रीनगर और बड़गाम में आज तक मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद थी। सैयद अली शाह गिलानी की मौत का समाचार मिलते ही कश्मीर के आइजी के विजय कुमार, एसपी और एएसपी समेत पुलिस के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उनके निवास स्थान पर पहुंच गए थे। पुलिस अधिकारियों ने सबसे पहले सैयद अली शाह गिलानी के परिजनों से मुलाकात कर उनके साथ सांत्वना व्यक्त की थी। परिजनों की रजामंदी के उपरांत वीरवार तड़के गिलानी को घर के समीप बने कब्रिस्तान में दफना दिया गया था।

कश्मीर के आइजी के विजय कुमार ने बताया कि मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने से विद्यार्थियों को आनलाइन पढ़ाई में काफी दिक्कतें पेश आई। इसी को मद्देनजर रखते हुए श्रीनगर और बड़गाम जिलों में आज यानि मंगलवार शाम 7 बजे से मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल कर दी जाएगी। इससे विद्यार्थियों को राहत मिलेगी।