भाजपा ने आम आदमी पार्टी पर साधा निशाना, कोरोना संकट में लोगों के वादे पूरा नहीं करने का आरोप

 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने की पत्रकार वार्ता
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने पत्रकार वार्ता में कहा कि मुख्यमंत्री ने दिल्ली के गरीब लोगों को उनके मकान का किराया देने का वादा किया था। छह माह बाद भी यह वादा पूरा नहीं किया गया। कोरोना संंकट केसमय किए वादे पूरे नहीं हुए हैं।

नई दिल्‍ली,  संवाददाता। भाजपा ने आम आदमी पार्टी (आप) सरकार पर कोरोना काल में दिल्लीवासियों से किए गए वादे पूरा नहीं करने का आरोप लगाया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ने दिल्ली के गरीब लोगों को उनके मकान का किराया देने का वादा किया था। छह माह बाद भी यह वादा पूरा नहीं किया गया। इसे लेकर अदालत ने भी नाराजगी जताते हुए दो सप्ताह में वादा पूरा करने को कहा है। यदि सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया तो गरीबों को हक दिलाने के लिए भाजपा संघर्ष करेगी।

प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने 29 मार्च को पहले मकान मालिकों से किराया देने में असमर्थ लोगों से किराया नहीं लेने की अपील की थी। उसके बाद उन्होंने इन लोगों का किराया दिल्ली सरकार की ओर से देने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान दिल्ली सरकार द्वारा किए गए सभी वादे खोखले साबित हुए। गरीबों को दो माह का राशन देने, आटो वालों को पांच हजार रुपये देने, कोरोना से मृत्यु होने पर आश्रित को 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने, कोरोना से अनाथ बच्चों को 25 वर्षों तक आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई थी, लेकिन इन्हें पूरा नहीं किया गया। यह गरीबों के साथ विश्वासघात है।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि वादा पूरा नहीं होने पर गरीब किरायेदारों ने हाई कोर्ट मंथ याचिका दायर की। हाई कोर्ट ने 22 जुलाई को दिल्ली सरकार से छह सप्ताह में वादा पूरा करने को कहा। लेकिन, छह सप्ताह में किसी भी किरायेदार का पैसा नहीं दिया या। अब हाई कोर्ट ने एक बार फिर से सरकार को दो सप्ताह में किरायेदारों से किया गया वादा पूरा करने को कहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई ल़ड़ते हुए 516 योद्धाओं को जान गई, इनमें से कुछ लोगों के आश्रितों को ही एक करोड़ का मुआवजा मिला है। इस बारे में दिल्ली सरकार से पक्ष मांगा गया, लेकिन प्राप्त नहीं हो सका।