पाकिस्तान के नेता की पूर्व पत्‍‌नी की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा, आरोपित ने किया चौंकाने वाला खुलासा

 

पाकिस्तान के नेता की पूर्व पत्‍‌नी की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

चांदनी महल इलाके में पाकिस्तानी नेता की पूर्व पत्‍‌नी 55 वर्षीय मुमताज परवीन की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मध्य जिला पुलिस ने इस मामले में मुमताज के भांजे फरमान अहमद को गिरफ्तार किया है।

नई दिल्ली,  संवाददाता। चांदनी महल इलाके में पाकिस्तानी नेता की पूर्व पत्‍‌नी 55 वर्षीय मुमताज परवीन की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मध्य जिला पुलिस ने इस मामले में मुमताज के भांजे फरमान अहमद को गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में फरमान ने बताया कि उसे लगता था कि मौसी मुमताज दो माह पूर्व बाड़ा हिंदूराव इलाके में फायरिंग के दौरान हुई दो राहगीरों की मौत में उसे व उसके परिवार को फंसाने का प्रयास कर रही थी। इसलिए उसने मुमताज की हत्या कर दी।

वारदात के बाद पुलिस से बचने के लिए वह मेरठ चला गया था। मध्य जिले की स्पेशल पुलिस टीम ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से आरोपित की पहचान कर उसे गिरफ्तार कर लिया। मां शहनाज ने ही फुटेज में बेटे फरमान की शिनाख्त की थी। मध्य जिला पुलिस उपायुक्त जसमीत सिंह ने बताया कि तीन सितंबर को छत्ता लाल मियां के गली बहार वाली स्थित घर में मुमताज का शव पाया गया था। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि मुमताज का परिवार भारत में रहता था, लेकिन उसकी शादी पाकिस्तान के नेता अब्दुल वाहब खान से हुई थी। हालांकि, कुछ साल बाद वह उससे अलग रहने लगी थी।

चेहरा ढककर बाहर निकला था आरोपित

पुलिस ने घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। फुटेज में 30 अगस्त को गली में एक संदिग्ध युवक आटो से उतरकर आता दिखाई दिया। वह रात आठ बजे गली के अंदर गया और जब आधे घंटे बाद वापस आया तो उसका चेहरा ढका हुआ था। पुलिस ने रिश्तेदारों, पड़ोसियों और परिवार के लोगों को फुटेज में दिख रहे युवक की पहचान कराई। इस दौरान आरोपित की मां शहनाज ने बेटे फरमान को पहचान लिया। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

राहगीरों की मौत पर मुमताज ने लगाया था आरोप

पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच में पता चला कि दो महीने पहले बाड़ा हिंदूराव इलाके में बदमाशों ने एक बिल्डर व उसके रिश्तेदार पर हमला कर दिया था। हमले में वह दोनों तो बच गए थे, लेकिन दो राहगीरों की मौत हो गई थी। इस मामले में मुमताज ने फरमान व उसके स्वजन पर आरोप लगाया था।