सांझा किसान मोर्चा ने भारत बंद काे दिया समर्थन, रेल व सड़क यातायात रहेगा बाधित

 

लुधियाना के किसान संगठनाें ने भारत बंद काे दिया समर्थन। (फाइल फाेटाे)

 भारत बंद काे लुधियाना के किसानाें का समर्थन मिल गया है। जत्थेबंदी की ओर समूह दुकानदारों व आम लोगों को अपील की जाती है कि वह बंद को पूर्ण समर्थन दें ताकि मोदी सरकार की ओर से पास किए गए कृषि सुधार कानून रद करवाए जा सकें।

 संवाददाता, जगराओं (लुधियाना)।  सांझा किसान मोर्चा की ओर से 27 सितंबर को भारत बंद का निमंत्रण दिया गया है। भारतीय किसान डकौंदा के वरिष्ठ नेता निर्मल सिंह भुमाल ने बताया कि जत्थेबंदी की ओर से भारत बंद का निमंत्रण दिया है। उन्होंने कहा कि इस बंद में पंजाब भर की 32 किसान जत्थेबंदियों के साथ देशभर में से 650 किसान जत्थेबंदियां भाग ले रही है।

जत्थेबंदी की ओर समूह दुकानदारों व आम लोगों को अपील की जाती है कि वह बंद को पूर्ण समर्थन दें ताकि मोदी सरकार की ओर से पास किए गए कृषि सुधार कानून रद करवाए जा सकें। भूमाल ने कहा कि जगराओं शहर में यह धरना नानकसर के पास लगाया जाएगा जहां पर जीटी रोड बंद किया जाएगा। वहीं जत्थेबंदी की ओर से रायकोट, हबंडा, सुधार, हलवारा आदि स्थानों पर धरना लगाया जाएगा। रेल आवाजाही व बस अड्डों को पूर्ण रूप से बंद किया जाएगा।

इसके अलावा दूध की सप्लाई, तूड़ी आदि की सप्लाई भी बंद की जाएगी। केवल एमरजेंसी सेवाओं को ही जारी रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि जत्थेबंदी आम लोगों के साथ है इसलिए आम लोगों को कोई परेशानी न हो जिन लोगों के विवाह समारोह, भागे जैसे समारोह उस दिन है उनको किसी किस्म की परेशानी नही आएगी। इस बात का खास ध्यान रखा जाएगा और किसी से कोई धक्केशाही नही की जाएगी। यदि उस भारत बंद दौरान किसी शारारती तत्व ने माहौल को खराब करने की कोशिश की तो उस खिलाफ सख्त कारवाई होगी। वहीं पंजाब किसान यूनियन ने भी सारे वर्ग के लोगों को भारत बंद में शामिल होने की अपील की। यह कहना है जिला प्रधान बूटा सिंह चक्र का। उन्होंने कहा कि दिल्ली बार्डरों पर बैठे किसानों को 10 महीने हो गए ,लेकिन केंद्र सरकार राजहठ करके किसानों की जायज मागों जैसे तीन खेती कानून रद करें।