यूपी में अब दंगा, दबंगई और दलाली बंद, विपक्षी पार्टियों पर केंद्रीय मंत्री नकवी ने कसा तंज

 

जागरण विमर्श: केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के साथ में दैनिक जागरण के प्रबंध संपादक तरुण गुप्त।

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि गुंडों-माफियाओं पर कानून का शिकंजा कसा गया है। पहले कोई काम दलालों के बिना नहीं होता था। अब दलालों की दुकान बंद हो गयी है। आज उत्तर प्रदेश एक परिपक्व प्रदेश बन गया है।

ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा स्थित इंडिया एक्सपोर्ट सेंटर एंड मार्ट में आयोजित विमर्श में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। बिना किसी का नाम लिए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश हमेशा दंगो की आग में जला है, वो भी तब सरकार के लोग खुद को सेकुलर बताते थे। वे लोग सेक्युलरिज्म का झोला टांगकर घूमते थे। 1980 के दंगे में 400 से ज्यादा लोग मारे गए। 1987 में मेरठ दंगे में भी सैकड़ो लोग मारे गए। मुजफ्फरनगर, कानपुर आगरा सभी जगह दंगों की लंबी श्रृंखला है। आज इन दंगों के दंश से मुक्ति मिली।

उन्होंने कहा कि दंगो में इंसान नहीं मरता बल्कि इंसानियत मरती है। पीएम मोदी और सीएम योगी के संकल्प से उत्तर प्रदेश और देश दंगों से मुक्त हुए हैं। 2014 से पहले देश और प्रदेश के तमाम हिस्सों में आतंकवादी हमले होते थे। कानपुर, काशी, लखनऊ समेत हार्य हिस्सा हमलों का शिकार हुआ लेकिन अब इन घटनाओं पर लगाम कसी गयी है। इससे सुकून मिलता है। प्रदेश में दंगा, दबंगई और दलाली से मुक्ति मिली है।मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि गुंडों-माफियाओं पर कानून का शिकंजा कसा गया है। पहले कोई काम दलालों के बिना नहीं होता था। अब दलालों की दुकान बंद हो गयी है। आज उत्तर प्रदेश एक परिपक्व प्रदेश बन गया है। अब जब मुस्लिम वोटों के ठेकेदार बैठते हैं और किसी क्षेत्र का ठेका उठाते हैं तो लोग विकास देखते हैं। लोगों ने पीएम मोदी और सीएम योगी का बिना भेदभाव का विकास देखकर वोट करते हैं। देश व प्रदेश की सरकार सबका साथ सबका विकास पर काम कर रहीं हैं।

इसका उदाहरण है- 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को मकान मिले। इनमें से 31 फीसद मुस्लिमों को मिला। 12 करोड़ किसानों को किसान संम्मान निधि मिली। इनमें से 33 फीसद मुस्लिमों को मिला। 31 करोड़ को मुद्रा योजना का लाभ मिला। इसमें 35 फीसद अल्पसंख्यक समाज को लाभ मिला। दलितों और अल्पसंख्यकों के गांवों तक बिजली पहुंचाई गई।

मुख्तार अब्बास नकवी से सवाल

आप पक्ष में हों या विपक्ष में लेकिन माहौल बिगाड़ने का आरोप भाजपा पर ही लगता है। इसका लाभ किसे मिलता है। 

जवाब- हमारा काम विकास का मसौदा है वोट का सौदा नहीं। हमारा लक्ष्य हार्य जरूरतमंद की आंखों में खुशी है। कुछ विपक्षी- परिवार के घोंसले तक सिमटी पार्टी और उनके चोंचलों में सिमटे लोग देश को समावेशी विकास की ओर नहीं ले जा सकते। तमाम दुष्प्रचार के बाद भी हमारा वोटबैंक बढ़ा। हमने तुष्टिकरण नहीं सशक्तिकरण किया। लोग हमारा नुकसान करना चाहते हैं लेकिन हमें फायदा होता है।

सवालः अल्पसंख्यकों की शिक्षा और उन्हें मुख्यधारा में लाने के लिए क्या कर रहे हैं?

जवाब: हजमारी सरकार सर्व समाज के सशक्तिकरण की बात करती है। जब हमारी सरकार आयी थी तब केंद्र सरकार की सेवा में अल्पसंख्यकों की भागीदारी करीब 4 फीसद थी जो अब करीब 10 फीसद है। 2014 में जहां अल्पसंख्यक योजनाओं का लाभ 20 लाख लोग लेते थे अब उनकी की संख्या 20 करोड़ है। हम योजनाएं सभी के लिए बनाते हैं। ये तो समाज को तय करना होगा कि उनके साथ जाना है जो चुनाव में शोर मचाते हैं कि इस्लाम खतरे में है, या गुण और दोष के आधार पर वोट देना होगा।