मधुबनी में रेल यात्रियों को राहत, एंटीजन जांच में गड़बड़ी पर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप


कोरोना संक्रमण से बचाव के ल‍िए गाइडलाइन का पालन जरूरी है। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर
मधुबनी रेलवे स्टेशन पर एंटीजन जांच में कई रेल यात्री कोरोना संक्रमित पाए गए थे टीम को जांच कार्य में लग सकता दो-तीन दिन का समय अब तक एंटीजन जांच की 76 पॉजिटिव रिपोर्ट में 43 की आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव।

मधुबनी, सं। बीते दिनों रेलवे स्टेशन पर एंटीजन जांच में पाॅजिटिव आने वाले यात्रियों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव आने पर यात्रियों ने राहत की सांस ली है। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग इन यात्रियों पर नजर रख रही है। उनकी माॅनिटरिंग की जा रही है। इधर, जांच में गड़बड़ी से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप है। स्टेशन पर एंटीजन जांच में गड़बड़ी को लेकर सभी की नजर जांच टीम की रिपोर्ट पर टिकी है।

बता दें कि एंटीजन जांच में गड़बड़ी को लेकर दो दिन पूर्व सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने पांच सदस्यीय जांच दल का गठन कर 24 घंटे के भीतर जांच रिपोर्ट समर्पित करने का आदेश दिया था। मगर, 48 घंटा गुजर जाने के बाद भी जांच रिपोर्ट सौंपा नहीं गया है। माना जा रहा है कि जांच टीम को एंटीजन जांच में आने वाले ने पॉजिटिव मामले की बारीकी से जांच के लिए अभी दो-तीन दिन का समय और लग सकता है। जांच टीम का अनुमान है कि एंटीजन जांच में पॉजिटिव आने का कारण एंटीजन किट में गड़बड़ी को नकारा नहीं जा सकता है। जांच टीम के प्रमुख एसीएमओ डॉ. आरके सिंह ने बताया कि जांच कार्य जारी रहने के कारण रिपोर्ट नहीं सौंपा जा सकी है। शीघ्र ही सिविल सर्जन को रिपोर्ट सौंपी जाएगी। इधर, रेलवे स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों का कोरोना जांच कार्य जारी रखा जा रहा है। मगर, पूर्व की अपेक्षा जांच किए जाने वाले यात्रियों की संख्या में कमी आ रही है।


अब तक 43 यात्रियों का आरटी पीसीआर जांच रिपोर्ट नेगेटिव

बीते दिनों रेलवे स्टेशन पर एंटीजन जांच में पाजिटिव पाए जाने वाले दो और यात्रियों का आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाया गया। इस तरह नेगेटिव आने वाले यात्रियों की संख्या 43 हो गई है। जिला महामारी पदाधिकारी अनिल चक्रवर्ती ने बताया कि बीते दिनों स्थानीय रेलवे स्टेशन पर स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस तथा पवन एक्सप्रेस से उतरने वाले 76 यात्रियों का एंटीजन जांच में रिपोर्ट पर संदेह उत्पन्न हो गया था। उन्होंने बताया कि शुक्रवार से जिले के बेनीपट्टी, खजौली, कलुआही, खुटौना सहित अन्य हिस्सों से आए नौ लोगों का सैंपल आरटीपीसीआर जांच के लिए भेज दिया गया है।