सोनीपत जिले की प्रापर्टी में आएगा उछाल, स्थानीय लोगों का भी होगा लाभ

 

Maruti Company Investment News: सोनीपत जिले की प्रापर्टी में आएगा उछाल, स्थानीय लोगों का भी होगा लाभ
मारुति के आने की चर्चाओं के बीच आइएमटी खरखौदा के अंदर हलचल बढ़ गई है वहीं आइएमटी के आसपास के क्षेत्र में भी लोगों ने जमीन की तलाश करनी शुरू कर दी है। जाहिर है कि जल्द ही खरखौदा क्षेत्र में भी प्रापर्टी के दामों में उछाल देखने को मिलेगा।

नई दिल्ली/सोनीपत। औद्योगिक माडल टाउनशिप (आइएमटी) खरखौदा में मारुति जैसी बड़ी कंपनी का निवेश होते ही यहां हर क्षेत्र में बदलाव होगा, जिससे प्रापर्टी भी अछूती नहीं रहेगी। मौजूदा हाल में मारुति के आने की चर्चाओं के बीच आइएमटी, खरखौदा के अंदर हलचल बढ़ गई है, वहीं आइएमटी के आसपास के क्षेत्र में भी लोगों ने जमीन की तलाश करनी शुरू कर दी है। जाहिर है कि जल्द ही खरखौदा क्षेत्र में भी प्रापर्टी के दामों में उछाल देखने को मिलेगा।

आइएमटी, खरखौदा की करीब तीन हजार एकड़ जमीन में से छह सौ से ज्यादा प्लाट इंडस्टियल पाकेट व जिन किसानों की जमीन गई उन्हें दिए जा चुके हैं। नौ सौ एकड़ पर मारुति का प्लांट लगना प्रस्तावित है। जल्द ही अन्य प्लाटों को भी बेचा जाएगा, जिसमें निवेशक अपने सामथ्र्य के अनुसार प्लाटों को खरीदेंगे। इसी बीच प्रापर्टी डीलरों द्वारा आइएमटी के इर्द-गिर्द जमीनों को खरीदने के लिए प्रयास शुरू कर दिए गए हैं, ताकि भविष्य में वह जमीन का उपयोग अन्य व्यावसायिक गतिविधियों के लिए कर सकें।

आइएमटी के बाहर भी स्थापित होंगी इकाइयां

आइएमटी, खरखौदा में ही नहीं बल्कि आसपास के क्षेत्र में भी विभिन्न इकाइयां स्थापित होंगी। ऐसे में आसपास के गांवों को भी इसका सीधा फायदा मिलेगा। ना केवल वेयरहाउस के रूप में लोगों को अवसर प्रदान होंगे बल्कि छोटे-छोटे औद्योगिक इकाइयों के रूप में स्थानीय लोग भी अपना व्यावसाय शुरू कर पाएंगे। इसके साथ ही लोग आइएमटी में काम करने के लिए बाहर से आने वाले लोगों को रिहायश उपलब्ध करवाने के लिए किराए के मकान बनाने की जुगत में भी हैं।

मनोज (प्रापर्टी डीलर) के अनुसार, अभी आइएमटी के इर्द-गिर्द लोगों को जमीन की तलाश है, जिसमें कुछ लोग भविष्य में अपनी इकाइयां स्थापित करना चाहते हैं तो कुछ इसलिए जमीन खरीदना चाहते हैं ताकि बाद में जमीन के भाव बढ़ने पर मुनाफा कमा सकें। अभी जमीन के दामों में कुछ इजाफा देखा जाने लगा है। 

वहीं, जितेंद्र दहिया (प्रापर्टी डीलर) का कहना है कि खरखौदा सहित आसपास के गांवों में भी लोग जमीन उपलब्ध होने के बारे में पूछने लगे हैं, फिलहाल दामों में कुछ ज्यादा बदलाव नहीं आया है, जबकि जमीन के खरीद-फरोख्त में तेजी जरूरी देखी जा रही है, लेकिन आइएमटी में बड़ा निवेश होने पर जमीन के दामों में तेजी आना तय है।