पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले मोर्चा प्रमुखों से मिलेंगे भाजपा के बड़े नेता

 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा करेंगे मोर्चा प्रमुखों से मुलाकात।(फोटो: दैनिक जागरण)
 भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले 26 सितंबर को संगठन के सभी मोर्चा के अध्यक्षों से मुलाकात करेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा करेंगे मुलाकात। कई बड़े नेता भी मिलेंगे।

नई दिल्ली, एएनआइ। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, पार्टी के महासचिव बीएल संतोष और पार्टी के अन्य प्रमुख पदाधिकारी पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर 26 सितंबर को संगठन के सभी मोर्चा के अध्यक्षों से मुलाकात करेंगे। समाचार एजेंसी एएनआइ ने सूत्रों के हवाले से इसकी जानकारी दी है। चुनाव वाले राज्यों के चुनाव प्रभारी नियुक्त करने के बाद पार्टी अब अपने विभिन्न मोर्चा प्रमुखों से मिलने और आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारी के लिए उन्हें जानकारी देने का लक्ष्य लेकर चल रही है।

सूत्रों ने बताया कि इस दौरान संगठन के विस्तार को लेकर भी चर्चा हो सकती है। इस बैठक के दौरान मोर्चों को पूर्व में सौंपे गए दायित्वों और कार्यों की भी समीक्षा की जाएगी।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने उत्तर प्रदेश चुनाव की जिम्मेदारी केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को दी है। पंजाब में बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को चुनाव प्रभारी बनाया है। केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव को मणिपुर का प्रभारी बनाया गया है। जबकि उत्तराखंड में पार्टी ने केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी को चुनाव प्रभारी के रूप में जिम्मेदारी दी है, जिन्होंने केरल में चुनावों का भी निरीक्षण किया। गोवा में भाजपा ने महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को चुनाव प्रभारी बनाने का फैसला किया है।

यूपी का खास मोर्चा तैयार

2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव का जिम्मा केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान को सौंपा गया है। धर्मेंद्र प्रधान के साथ केंद्रीय मंत्रियों अनुराग सिंह ठाकुर, अर्जुन राम मेघवाल, शोभा करंदलाजे, अन्नपूर्णा देवी के अलावा पार्टी महासचिव सरोज पांडे, हरियाणा के पूर्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु और राज्यसभा सांसद विवेक ठाकुर को सह प्रभारी बनाया गया है।

इन पांच राज्यों में से 4 में भाजपा की सरकार

2022 में जिन पांच राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं, उसमें चार जगहों पर भाजपा की ही सरकार है। उत्तर प्रदेश, गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर में भाजपा शासित सरकार है तो वहीं पंजाब में कांग्रेस की सरकार है। ऐसे में भाजपा ने अभी से ही कमर कसनी शुरू कर दी है।