दीदार-ए-ताज को आए पर्यटक दंपती से मारपीट, सीआइएसएफ जवानों के कृत्य से ताजनगरी शर्मसार

 

आगरा,  संवाददाता। दीदार-ए-ताज को राजस्थान के कोटा से आए पर्यटक दंपती से सीआइएसएफ के जवानों ने मारपीट कर दी। पर्यटक ने लिखित शिकायत सीआइएसएफ कमांडेंट से की है। पर्यटक ने उचित कार्रवाई न होने पर महिला आयाेग, मानवाधिकार आयोग में अपील करने की बात कही है। कमांडेंट ने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है। सीआइएसएफ के जवानों द्वारा पर्यटक से मारपीट किए जाने से ताजनगरी शर्मसार हो गई है।

राजस्थान के कोटा निवासी ऋषभ जैन मंगलवार को परिवार के साथ ताजमहल देखने आए थे। ऋषभ के अनुसार पूर्वी गेट पर चेकिंग के दौरान उनकी पत्नी डा. तनुश्री जैन से सीआइएसएफ की दो महिला सुरक्षाकर्मियों ने अभद्र व्यवहार किया। आपत्ति जताने पर अभद्र भाषा में सामान छुपाकर ले जाने की बात कही। मैंने तमीज से बात करने को कहा तो सीआइएसएफ के दो-तीन जवानों ने मुझे पीछे से घसीटा। महिला सुरक्षाकर्मियों ने मेरी पत्नी के साथ मारपीट की और जूता मारने की धमकी दी। एक सीआइएसएफ जवान ने मेरी पत्नी के साथ धक्का-मुक्की की। इसकी रिकार्डिंग सीसीटीवी कैमरे में है। दो जवान मुझे घसीटकर पास में बने कक्ष में ले गए। मेरा मोबाइल मुझसे छीन लिया। कुछ देर बाद तीन जवान और आ गए और मेरे साथ मारपीट शुरू कर दी, जिससे मेरी नाक से खून बहने लगा व चेहरे पर खरोंच आई। मुझे कमरे में बंद कर चले गए। मेरी साढ़े तीन वर्ष की बेटी यह देखकर रोने लगी। बाद में मेरा भाई आया तो उसे भी धक्का दे दिया। बाद में पहुंचे सीआइएसएफ इंस्पेक्टर ने कमरे से मुझे बाहर निकलवाया। मुझे पूर्वी गेट पर लेकर गए, जहां मेरी पत्नी, बच्ची और भाई खड़े थे। अनेक बार आग्रह करने के बावजूद मेरा प्राथमिक उपचार नहीं किया गया। यहां महिला सुरक्षाकर्मी ने एक बार फिर धमकी दी।

सीआइएसएफ कमांडेंट राहुल यादव ने बताया कि महिला पर्यटक खाने के सामान को छुपाकर ले जा रही थी, जिसे लेकर सुरक्षाकर्मी से विवाद हो गया था। पर्यटक को ताजमहल की विजिट कराई गई है। उसकी शिकायत की जांच की जा रही है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।