मलबे में दबकर दो बच्चों और एक बुजुर्ग की मौत, दिल्ली सरकार ने दिए जांच के आदेश

 

सब्जी मंडी घंटाघर मे गिरी बिल्डिंग के मलबे में दबे घायलों को निकालकर अस्पताल पहुंचाते एनडीआरएफ व पुलिस कर्मी।
 उत्तरी दिल्ली के मलका गंज इलाके में इमारत के गिरने का मामला सोमवार 12 बजे के आसपास का है। हादसे की वजह लगातार बारिश होना भी बताया जा रहा है। इमारत तकरीबन 10 साल पुरानी बताई जा रही है।

नई दिल्ली,  संवाददाता। उत्तरी दिल्ली के मलका गंज इलाके में एक चार मंजिला इमारत के भरभराकर गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई, इसमें एक मां और उसके दो बच्चे शामिल हैं। बच्चों की मां उनको ट्यूशन से लेकर वापस घर लौट रही थी, इसी दौरान ये इमारत गिर गई जिसकी चपेट में ये तीनों भी आ गए। पापा का नाम नीतिन है और माँ का नाम आयुषी। माँ बच्चों को ट्यूशन से लेकर आ रही थी। छोटे बेटे का नाम प्रियांशू और बड़े बेटे का नाम सौम्य था। सूचना पर पहुंची दिल्ली पुलिस राहत और बचाव के काम में जुटी हुई है। मलबे में दब लोगों को बाहर निकालने का काम भी जारी है।

jagran

चार मंजिला इमारत के गिरने का मामला सोमवार 12 बजे के आसपास का है। हादसे की वजह लगातार बारिश होना भी बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इमारत में मजदूर लगे हुए थे, कुछ निर्माण का काम भी चल रहा था।

दिल्ली सरकार ने दिए जांच के आदेश

वहीं, दिल्ली के कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे में 2 बच्चों की मौत की खबर सामने आई है। ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वो उनके परिवार को इस दुःख को सहने की शक्ति दे। दिल्ली सरकार ने इस मामले की तत्काल जांच के आदेश दे दिए हैं। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

एलजी ने जताया शोक

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कहा कि सब्जी मंडी क्षेत्र में इमारत गिरने की दुखद घटना से व्यथित हूं। इस घटना में मारे गए बच्चों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। तत्काल राहत और बचाव कार्य प्राथमिकता के आधार पर किए जा रहे हैं। एलजी ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि इस तरह की जहां-जहां इमारतें हैं उसकी पहचान कर उचित कार्रवाई की जाए ताकि भविष्य में फिर से ऐसी घटना न हो।

jagran

  • मलबे में दबे दो बच्चों को मलबे से बाहर निकाला गया है। दोनों बच्चे अपनी मां के साथ ट्यूशन पढ़कर घर वापस लौट रहे थे। तभी इमारत का मलबा उनके ऊपर गिर गया।
  • इमारत के बेसमेंट में निर्माण कार्य चल रहा था, हादसे के दौरान मजदूर काम कर रहे थे।
  • इमारत में एक पान की दुकान भी थी, जिसमें पान वाले को मलबे से निकाल लिया गया है।
  • इमारत पुरानी थी और कुछ हिस्सों में निर्माण का काम भी चल रहा था। बैटरी रिक्शा और कई वाहन भी दबे हुए हैं, जिसमें बताया गया कि लोग बैठे भी हुए थे।
  • इमारत में दूध की दुकान और हलवाई की दुकान भी थी।

वहीं, हादसे पर अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है- 'सब्जी मंडी इलाके में इमारत गिरने का हादसा बेहद दुखद। प्रशासन राहत और बचाव कार्य में जुटा है, ज़िला प्रशासन के माध्यम से मैं खुद हालात पर नज़र बनाए हूं।'

jagran

जागरण संवाददाता के मुताबिक, सोमवार सुबह सब्जी मंडी इलाके के मलका गंज में अचानक एक चार मंजिला इमारत भरभराकर गिर गई। राहत और बचाव के दौरान टीम ने इमारत के मलबे में दबे एक युवक निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, इस हादसे में अब तक तीन लोगों की मौत की जानकारी मिल रही है।

jagran

(फोटो कैप्शन- सब्जी मंडी घंटा घर मे गिरी बिल्डिंग मलबे में दबे कई लोग। घटना में मरने वाले दो बच्चों के परिजन हिंदूराव अस्पताल में विलापते हुए।)

दिल्ली दमकल विभाग के मुताबिक, सोमवार सुबह 11 बजकर 50 मिनट पर मलका गंज इलाके में इमारत गिरने की सूचना मिली थी। कई लोगों की कार के ऊपर भी इमारत का मलबा गिरा है। फिलहाल पुलिस और दमकल कर्मी बचाव कार्य मे जुटे हैं। बताया जा रहा है कि मलबे में कुछ लोगों के दबे हो सकते हैं। दिल्ली पुलिस ने तीनों लोगों की मौत की पुष्टि की है।

बारिश की वजह से गिरी इमारत

प्राथमिक जानकारी के मुताबिक, चार मंजिला यह इमारत पहल से ही जर्जर थी। इस बीच लगातार हो रही बारिश ने परेशानी और बढ़ा दी। सोमवार सुबह यह अचानक भरभराकर गिर गई।

गौरतलब है कि दिल्ली में शनिवार और रविवार को हुई बारिश के चलते सड़कों और गलियों में जलभराव की समस्या बरकरार है। लाहौरी गेट, मटिया महल, चांदनी चौक, चावड़ी बाजार और सदर बाजार की गलियों में जलभराव की समस्या सोमवार को भी देखने को मिली।

बता दें कि इससे पहले पिछले महीने 8 अगस्त को उत्तर पूर्वी दिल्ली के नंद नगरी इलाके में दो मंजिला इमारत गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबक‍ि तीन अन्य लोग घायल हो गए।