यूपी-मध्य प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में बढ़ रहे डेंगू और वायरल फीवर के मामले, जानें ताजा अपडेट

 

देश भर में डेंगू फीवर के मामलों को लेकर ताजा अपडेट।(फोटो: दैनिक जागरण)
फिरोजाबाद में डेंगू वायरल फीवर का कहर थम नहीं रहा है। जिले में 24 घंटे में रिकॉर्ड 14 और मरीजों की मौत हो गई। इनमें 8 बच्चे शामिल हैं। नए मरीजों को इलाज के लिए जगह मिलने में परेशानी हो रही है।

नई दिल्ली, एजेंसियां। कोरोना वायरस संक्रमण के बाद अब देश में डेंगू औऱ वायरल फीवर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यूपी, मध्य प्रदेश समेत देश के कई हिस्सों में डेंगू बुखार के मामले बढ़ रहे हैं। जिससे देश की चिंता बढ़ गई है। यूपी और मध्य प्रदेश में इसका कहर सबसे ज्यादा सामने आ रहा है। यूपी के फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल फीवर का कहर थम नहीं रहा है। इसके अलावा कासगंज में भी केस तेजी से बढ़ रहे हैं। वहीं, आसपास के राज्यों में भी बुखार के काफी मामले अचानक से बढ़ गए हैं। इनमें मध्य प्रदेश भी एक है। आइए जानते हैं देश भर में डेंगू फीवर के मामलों को लेकर ताजा अपडेट क्या है...

फिरोजाबाद में 24 घंटे में 14 मरीजों की मौत

फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल फीवर का कहर थम नहीं रहा है। जिले में 24 घंटे में रिकॉर्ड 14 और मरीजों की मौत हो गई। इनमें आठ बच्चे शामिल हैं। शहर से लेकर देहात तक चीत्कार मची हुई है। नगर निगम के अलावा देहात क्षेत्रों में भी मौत के मामले सामने आए हैं। शनिवार को कुल मौत का आंकड़ा 135 पर पहुंच गया। उधर, कासगंज जिले में बुखार से छह मरीजों की मौत हो गई। बुखार से बच्चों व बड़े दोनों प्रभावित दिख रहे हैं। वहीं, अस्पतालों में बच्चों के बेड्स ज्यादातर भरे हुए हैं। नए मरीजों को इलाज के लिए जगह मिलने में परेशानी हो रही है।

फिरोजाबाद के राजकीय मेडिकल कालेज स्थित सौ शैय्या अस्पताल में 24 घंटे में कराई गई एलाइजा जांच में 101 नए मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है। वर्तमान में सौ शैय्या अस्पताल में 429 मरीज भर्ती हैं। इधर, निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सौ शैय्या अस्पताल में गंभीर हालत में आने वाले मरीजों को ही भर्ती किया जा रहा है। शनिवार को सौ शैय्या अस्पताल के महिलाएं अपने बीमार बच्चों को गोद में लिए रोते-बिलखते दिखाई दीं।

मध्य प्रदेश में अब तक 2400 मामले

मध्य प्रदेश में डेगू के अब तक कुल 2400 मामले सामने आ चुके हैं। फिलहाल मध्य प्रदेश में 95 डेंगू के मामले सक्रिय हैं।

बिहार- पटना में 72 घंटे में डेंगू के 16 मामले सामने आए

बिहार की राजधानी पटना में वायरल बुखार के बाद डेंगू के मामले बढ़ रहे हैं। पटना की डाक्टर और सिविल सर्जन विभा सिंह ने कहा कि पिछले 3 दिनों में पटना में डेंगू के 16 पाजिटिव मामले सामने आए हैं। हम अस्पतालों और प्रभावित क्षेत्रों से जानकारी एकत्र करने के लिए एक समर्पित टीम का गठन किया है ताकि समय पर उपाय किए जा सकें।सूत्रों ने कहा है कि रोगियों की संख्या अधिक हो सकती है क्योंकि उनमें से कई अलग-अलग निजी अस्पतालों में भर्ती हैं और उन्होंने रिपोर्ट नहीं भेजी है सिविल सर्जन कार्यालय। पिछले कुछ दिनों में पीएमसीएच, एनएमसीएच, आईजीआईएमएस, पटना एम्स की ओपीडी में मरीजों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। ज्यादातर मामले दानापुर, पाटलिपुत्र कॉलोनी, राजा बाजार, बैरिया, कंकरबाग, राजीव नगर, नागेश्वर कॉलोनी, बोरिंग रोड से सामने आए हैं।

डेंगू और डी2 स्ट्रेन क्या है?

डेंगू एक तरह का वायरल बुखार है। यह वायरस जनित बीमारी है, जो एडीज इजिप्टी मच्छर (मादा) के काटने से फैलती है। डेंगू का मच्छर ज्यादातर दिन में ही काटता है। डेंगू बुखार चार तरह का होता है। इनमें से डी-2 स्ट्रेन को काफी खतरनाक माना जाता है। इस स्ट्रेन की चपेट में आकर कोई भी शख्स बहुत तेजी से बीमार होता है। कई बार यह जानलेवा भी होता है। डॉक्टर इसे डेंगू शॉक सिंड्रोम के तौर पर भी देखते हैं। इसमें बुखार से पीड़ित मरीज का अचानक ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। इससे मरीज की मौत भी हो सकती है।

क्या होते हैं लक्षण ?

डेंगू में आम फ्लू जैसे लक्षण उभरते हैं। ये लक्षण 2 से 7 दिन तक रह सकते हैं। डेंगू मच्छर के काटने पर 4 से 10 दिन में बीमारी पूरी तरह फैल जाती है। शुरुआत में सिरदर्द, आंखों के पीछे दर्द, मिचली आना, उल्टी, हड्डियों या मांसपेशी में दर्द, चकत्ते जैसे लक्षण होते हैं। अगर सही से इलाज न मिला तो यही सामान्य डेंगू गंभीर बन जाता है। इसमें पेटदर्द, खून की उल्टी, तेज सांस चलना, मसूड़ों से खून जैसी दिक्कत हो सकती है।

कैसे फैलता है डेंगू?

डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छर जमा पानी में तेजी से पनपते हैं। कूलर का पानी वक्त-वक्त पर बदलते रहना चाहिए। बारिश के बाद का मौसम इन मच्छरों के प्रसार की प्रमुख वजह होता है। एडीज मच्छर खुले और साफ पानी में अंडे देते हैं।