मदरसा के लिए चंदा लेने के नाम पर खटखटाते थे घर का दरवाजा, फिर कर लेते थे चोरी और लूटपाट

 

अखलाक ने बताया कि वह मदरसों के लिए चंदा इकट्ठा करने का काम करता है।

दक्षिणी दिल्ली में मदरसा के लिए चंदा लेने के नाम पर घरों में चोरी और लूटपाट करने वाले बदमाश को किरतापुर बिजनौर यूपी से शाहीन बाग थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर उससे दो मोबाइल बरामद किए हैं। वह पहले भी चोरी के दो मामलों में शामिल रहा है।

नई दिल्ली,  संवाददाता। दक्षिणी दिल्ली में मदरसा के लिए चंदा लेने के नाम पर घरों में चोरी और लूटपाट करने वाले बदमाश को किरतापुर, बिजनौर यूपी से शाहीन बाग थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर उससे दो मोबाइल बरामद किए हैं। वह पहले भी चोरी के दो मामलों में शामिल रहा है। गिरफ्तार बदमाश की पहचान 43 वर्षीय अखलाक के रूप में हुई है। वह मूलरूप से किरतापुर का रहने वाला है। दक्षिण-पूर्वी जिले के डीसीपी आरपी मीणा ने बताया कि 10 जुलाई को शाहीन बाग पुलिस को एक घर में चोरी की काल मिली थी।

पुलिस टीम को मौके पर मिली मलका ने बताया कि वह सुबह आठ बजे सो रही थीं। तभी उनके कमरे में कोई आया और दो मोबाइल चुरा ले गया। सर्विलांस से चोरी के मोबाइल की लोकेशन बिजनौर में मिली। पुलिस ने वहां से नवाब हुसैन को पकड़ा। उसने बताया कि यह मोबाइल उसने अखलाक से खरीदा है। इस पर पुलिस ने अखलाक को भी गिरफ्तार कर लिया। अखलाक ने बताया कि वह मदरसों के लिए चंदा इकट्ठा करने का काम करता है। इस तरह वह आसानी से किसी के घर में घुस जाता है। फिर मौका देख चोरी और लूटपाट कर लेता है। 10 जुलाई को भी वह महिला के घर पहुंचा था। उसे सोता हुआ देख 12 हजार कैश, दो मोबाइल लेकर भाग गया था। झपटमारों को गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम ने आरोपितों के पास से दो झपटमारी के मोबाइल फोन बरामद किए हैं। आरोपित मंडावली निवासी कुलदीप सिंह व साजन कुमार हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि 10 अगस्त को प्रीत विहार इलाके में काम खत्म कर घर जा रही युवती के हाथ से स्कूटी सवार दो बदमाशों ने मोबाइल झपटकर फरार हो गए थे।

इस मामले में आरोपितों को पकड़ने के लिए क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर विकास राणा के नेतृत्व में एसआइ राजीव बमल, हरबीर सिंह, अशोक कुमार समेत अन्य पुलिस कर्मियों की टीम गठित की गई थी। पुलिस टीम ने घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच किया और स्थानीय जानकारी जुटा कर दोनों को आरोपितों की पहचान किया। बृहस्पतिवार को मंडावली के रेलवे कालोनी से दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

साउथ दिल्ली के कालकाजी स्थित रघुनाथ मंदिर से बदमाशों ने चांदी के छत्र व प्रतिमा चुरा ली है। मंदिर के प्रधान केएल अरोड़ा की शिकायत पर कालकाजी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। जानकारी के मुताबिक, बुधवार रात पुजारी मंदिर बंद करके घर चले गए थे। बृहस्पतिवार सुबह पुजारी शिव कुमार मंदिर पहुंचे तो देखा कि मंदिर की ग्रिल टूटी है और हनुमान जी की मूर्ति पर लगा चांदी का छत्र और शिवजी की मूर्ति गायब है। चोरी हुई चांदी के छत्र की कीमत करीब पांच लाख रुपये बताई जा रही है। जांच के दौरान वहां एक लकड़ी की सीढ़ी मिली है। आशंका है कि पहले इसकी मदद से बदमाश मंदिर में पहुंचे होंगे। फिर ग्रिल काटकर चोरी की होगी।