एमपी की मंत्री ने कहा, स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर स्कूल भवनों का नाम रखना चाहती है राज्य सरकार

 

मंत्री ने कहा संबंधित विभागों के अधिकारियों से हुई चर्चा
ठाकुर ने कहा हम स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर स्कूल भवनों का नाम रखना चाहते हैं और हमने इस मामले पर संबंधित विभागों के साथ चर्चा की है। इन क्रांतिकारियों के जीवन मूल्यों और उपलब्धियों को प्रदर्शित करने वाली तस्वीर भी स्कूलों के बाहर लगाई जाएगी।

भोपाल, एएनआइ। मध्य प्रदेश की संस्कृति और पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने शनिवार को कहा कि राज्य सरकार स्कूल भवनों का नाम स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर रखना चाहती है। इस संबंध में उन्होंने संबंधित विभागों और अधिकारियों से चर्चा की है।

शनिवार को पत्रकारों से बात करते हुए, ठाकुर ने कहा, 'हम स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर स्कूल भवनों का नाम रखना चाहते हैं और हमने इस मामले पर संबंधित विभागों के साथ चर्चा की है। इन क्रांतिकारियों के जीवन मूल्यों और उपलब्धियों को प्रदर्शित करने वाली तस्वीर भी स्कूलों के बाहर लगाई जाएगी।'

कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए मंत्री ने कहा, 'कांग्रेस के शासन के दौरान, इस तरह की पहल को बढ़ावा नहीं दिया गया था। हमारा लक्ष्य अपने समय में इस तरह की पहल को बढ़ावा देना है।'

संघ की तुलना तालिबान से करने वालों को अफगानिस्तान भेजने की बात कहने वाले महामंडलेश्वर को जान से मारने की धमकी

पिछले दिनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तुलना तालिबान से करने वालों को अफगानिस्तान भेजने संबंधी बयान देने वाले मप्र के इंदौर निवासी महामंडलेश्वर राधेराधे बाबा को फोन पर धमकी मिली है। इंदौर के छत्रीपुरा थाना पुलिस ने मोबाइल नंबर के आधार पर प्रकरण दर्ज कर लिया है। मोबाइल नेपाल का होना पाया है। आरोपित ने फोन पर जान से मारने व लाशों का ढेर लगाने जैसी बातें कही हैं। छत्रीपुरा थाना टीआइ पवन सिंघल के मुताबिक महंत मनमोहनदास उर्फ राधेराधे बाबा ने बताया कि वे शनिवार रात करीब आठ बजे अस्पताल की तरफ से आश्रम आ रहे थे, तभी मोबाइन नंबर 9779...900 से आए फोन पर आरोपित ने कहा कि 'तुम्हारे घर के सामने तुम्हारे इतने चीथड़े उड़ेंगे कि बोटियां गिन नहीं पाओगे। घर के सामने लाशों का ढेर लगा देंगे। एक महीने के अंदर परिणाम देख लेना'। टीआइ के मुताबिक बाबा ने धमकी की रिकार्डिंग पुलिस को सौंपी है। बाबा ने मीडिया को बताया कि उन्होंने पिछले दिनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना तालिबान से करने वाले लोगों के खिलाफ आवाज उठाई थी। शायर जावेद अख्तर की टिप्पणी से नाराज बाबा ने उन्हें भी अफगानिस्तान भेजने की मांग की थी। घटना के बाद एएसपी व टीआइ बाबा से मिलने पहुंचे और सुरक्षा लगा दी।