फेंसिडिल व कई मोबाइल फो न के साथ बीएसएफ के हत्थे चढ़ा तस्कर

 

फेंसिडिल व कई मोबाइल फोन के साथ बीएसएफ के हत्थे चढ़ा तस्कर
बीएसएफ ने बताया कि 12 सितंबर की मध्य रात्रि में लगभग तीन बजे जवानों ने अपने अदम्य साहस का परिचय देते हुए तस्करों की एक पूरी टोली को घेर लिया।खुफिया विभाग ने पहले ही सूचना दे दी थी कि तस्करों की एक टोली जिसमें तीन से चार तस्कर शामिल हैं

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। दक्षिण बंगाल सीमांत मुख्यालय अंतर्गत मालदा जिले में तैनात बीएसएफ की 70वीं बटालियन की सीमा चौकी नवादा के बहादुर जवानों ने खुफिया विभाग की सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए तस्करों के मंसूबों को विफल कर दिया। इस दौरान जवानों ने प्रतिबंधित फेंसिडिल कफ सिरप की 25 बोतलों व तीन मोबाइल फोन के साथ एक तस्कर को दबोचने में सफलता हासिल की।

बीएसएफ की ओर से एक बयान में बताया गया कि 12 सितंबर की मध्य रात्रि में लगभग तीन बजे जवानों ने अपने अदम्य साहस का परिचय देते हुए तस्करों की एक पूरी टोली को घेर लिया। खुफिया विभाग ने पहले ही सूचना दे दी थी कि तस्करों की एक टोली जिसमें तीन से चार तस्कर शामिल हैं, रात में वे किसी भी वक्त अंतरराष्ट्रीय सीमा से अवैध सामानों की तस्करी कर सकते हैं।

चूंकि, खुफिया विभाग की खबर पक्की थी, अतः नवादा बीओपी के बहादुर जवानों ने अम्बुश लगा दिया। तस्करों पर पैनी नजर रखी जाने लगी, अचानक रात्रि के तीन बजे तस्करों की एक टोली दिखाई दी, जो छोटे बैग (पोटला) लिए हुए थे और वे सीमा की ओर बढ़ रहे थे। तभी बीएसएफ के बहादुर जवानों ने उन्हें रूकने की चुनौती दी। लेकिन वे पीछे की ओर भागना शुरू कर दिए।

बीएसएफ की अम्बुश पार्टी ने उनका पीछा किया। इस दौरान एक भारतीय तस्कर को 25 बोतल फेंसिडिल व तीन मोबाइल फोनों के साथ धर दबोचा गया जबकि बाकी तस्कर अंधेरे और घनी वनस्पतियों का लाभ उठाकर भागने में सफल रहे। प्रारंभिक पूछताछ में तस्कर ने अपना नाम गौर रविदास (24), ग्राम- गोपाल नगर, ससानी, पुलिस स्टेशन- कालियाचक, जिला- मालदा बताया। उसने खुलासा किया कि जब्त की गई फेंसिडिल की बोतलें उसने उसी के गांव के रहने वाले शरीफ शेख (23) से प्राप्त की थी और बांग्लादेश में ले जाकर फेंसिडिल की तस्करी करने वाले गिरोह के मुख्य आदमी राशिद अली, गांव- 19 बीघी, पुलिस स्टेशन- शिवगंज, जिला- चपाईनवाबगंज, बांग्लादेश को सौंपना था। जिसके बदले गौर रविदास को 500 रुपये मिलने थे।

बीएसएफ ने आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए पकड़े गए तस्कर को जब्त सामानों के साथ कालियाचक पुलिस स्टेशन को सौंप दिया है। इधर, 70वीं बटालियन के कमांडिंग आफिसर सुखबीर सिंह ने अपने सैनिकों की उपलब्धियों पर खुशी व्यक्त की है। उन्होंनें कहा कि सीमा सुरक्षा बल के जवान लगातार बिना थके और पूरे जोश से तस्करों को पकड़ रहें हैं।