कोर्ट ने ये कहते हुए जमानत देने से किया इन्कार, पति को ये पता न हो उसकी पत्नी स्पा में क्या चला रही थी

 

सीसीटीवी फुटेज से स्पष्ट है कि आरोपित नियमित रूप से स्पा में जाता था।
स्पा के नाम पर देह व्यापार कराने के आरोपित को दिल्ली हाई कोर्ट ने यह कहते हुए जमानत देने से इन्कार कर दिया कि ऐसा नहीं माना जा सकता कि आरोपित कुलदीप को पता नहीं था कि उसकी पत्नी स्पा में क्या गतिविधियां चला रही थी।

नई दिल्ली,  संवाददाता। स्पा के नाम पर देह व्यापार कराने के आरोपित को दिल्ली हाई कोर्ट ने यह कहते हुए जमानत देने से इन्कार कर दिया कि ऐसा नहीं माना जा सकता कि आरोपित कुलदीप को पता नहीं था कि उसकी पत्नी स्पा में क्या गतिविधियां चला रही थी। न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद की पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ता गवाहों को प्रभावित करने के साथ ही सुबूतों से छेड़छाड़ कर सकता है। पीठ ने कहा कि पेश साक्ष्यों व सीसीटीवी फुटेज से स्पष्ट है कि आरोपित नियमित रूप से स्पा में जाता था।

अमन विहार थाने में 25 अक्तूबर 2020 को 17 वर्षीय पीडि़ता ने केस दर्ज कराया था। आरोप हैं कि उसकी चाची सुमन एक स्पा सेंटर में काम करती थी। सुमन उसे स्पा में काम करने के बहाने आरोपित की पत्नी पूनम के पास ले गई थी। स्पा सेंटर में बने केबिन में पूनम ने उसे ग्राहक के पास भेजा, लेकिन मना करने पर उसकी चाची ने उसकी पिटाई कर दी थी। इसके बाद उसके साथ कई दफा शोषण किया गया। 21 अक्तूबर 2020 को पीडि़ता वहां से भाग निकली और केस दर्ज कराया था।

दक्षिणी जिले के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया फतेहपुरबेरी थाना पुलिस ने शांति कालोनी बस स्टाप के पास एक ईको कार को रुकने का इशारा किया, लेकिन आरोपित पुलिस टीम को देखकर भागने का प्रयास करने लगा। टीम ने आरोपित को मौके से ही दबोच लिया। तलाशी के दौरान आरोपित की कार से 4000 पव्वे (करीब 720 लीटर) शराब बरामद की गई। आरोपित दक्षिणी जिले के महिपालपुर, रजोकरी समेत कई इलाकों में सप्लाई करता था।

आरोपित की निशानदेही पर पुलिस शराब बिक्री करने वालों की तलाश कर रही है, वहीं स्पेशल स्टाफ टीम ने तिगड़ी रेड लाइट के पास से शराब की तस्करी कर रहे युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपित के पास से कुल 1700 पव्वे (300 लीटर) शराब बरामद की गई है। दोनों आरोपितों के खिलाफ दिल्ली एक्साइज एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपित हरियाणा से देशी और अंग्रेजी शराब लाकर दिल्ली में मोटे मुनाफे पर बेचते थे।